बेगूसराय चुनाव : मंजू वर्मा का गिरिराज सिंह के साथ मंच पर दिखना राजनीतिक नुकसान न पहुंचा दे


(PC : Twitter/@ANI)

बिहार के बेगूसराय संसदीय क्षेत्र से भाजपा के फायरब्रांड नेता गिरिराज सिंह मैदान में हैं। यहां से चुनावी प्रचार शुरू करते ही उनके साथ एक विवाद जुड़ गया है। प्रचार के दौरान एक सभा में उनके साथ मुजफ्फरपुर शेल्टर होम मामले की आरोपी मंजू वर्मा मंच साझा करती हुई दिखीं। इस घटना के बाद से बेगूसराय और खास कर बिहार की राजनीतिक पारा चढ़ गया है।

 

दरअसल मंजू वर्मा फिलहाल जमानत पर हैं। उन पर आर्म्स एक्ट के तहत मामला चल रहा है। प्रारंभ में मामला दर्ज होने पर वे भूमिगत हो गईं थीं और २ महीनों की अवधि तक पुलिस के साथ लुकाछिपी का खेल खेलने के बाद उन्होंने आत्मसमर्पण किया था। मुजफ्फरपुर शेल्टर होम मामले में नाम आने के बाद उनके गांव में छापेमारी के दौरान ५० से अधिक जिंदा कारसि मिले थे, तभी से इनको लेकर विवाद है। मुजफ्फरपुर रेप केस मामले में उनके पति चंदेश्वर वर्मा आरोपी हैं और फिलहाल जेल में हैं।

वैसे भी गिरिराज सिंह का मन बेगूसराय से चुनाव लड़ने का था ही नहीं। वे इस संबंध में खुलेआम नाराजगी भी व्यक्त कर चुके थे। उनका मानना था कि जब अन्य सभी सिटिंग एमपी को उनके पुराने संसदीय क्षेत्र से टिकट दिया गया, तो उनकी सीट बदलने का प्रस्ताव उनका अपमान करने के बराबर है। हालांकि भाजपा अध्यक्ष अमित शाह के समझाने पर वे मान गये और अब बेगूसराय से चुनाव लड़ने का मन बना लिया है।

बेगुसराय से गिरिराज सिंह का सीधा मुकाबला सीपीआई के युवा चेहरे कन्हैया कुमार से है। कन्हैया यहां से जोरदार चुनौती देंगे, ऐसा उनकी स्थानीय सभाओं और तेवरों से लग रहा है। ऐसे में राजनीतिक पंडितों का मानना है कि गिरिराज सिंह को विवादों से दूर रहना होगा, नहीं तो उसका चुनाव पर असर हो सकता है।