आखिरी ओवर में योर्कर पर योर्कर डाल लसीथ मलिंगा ने दिलाया मुंबई इंडियन्स को IPL2019 का खिताब


(PC : twitter/@cricketcomau)

रविवार की शाम दुनिया भर के क्रिकेट प्रेमियों के लिये रोमांचक रही। आईपीएल 2019 का फायनल मुकाबला मुंबई इंडियन्स और चैन्नई सुपरकिंग्स के बीच खेला गया। अंबानी परिवार की मुंबई इंडियन्स ने बेहद रोमांचक मुकाबले में महेन्द्र सिंह धोनी की चैन्रई को धूल चटाकर ट्रॉफी पर कब्जा किया। मैच में मुंबई इंडियन्स की जीत के लिये टर्निंग पोईंट्स कई हो सकते हैं, लेकिन क्रिकेटीय कौशल की दृष्टि से देखें तो तेज गेंदबाज लसीथ मलिंगा की फैंकी गई आखिरी ओवर ने ही मैच रोहित शर्मा की झोली में डाला।

क्रिकेट में जहां तक गेंदबाजी का संबंध है, तेज गेंदबाजों के लिये सबसे कारगर हथियार होता है योर्कर गेंद डालना। सीधे पैर के पास टप्पा खाने वाली यह गेंद सही सटीक गिरती है, तो बल्लेबाज के पास किसी तरह अपना विकेट बचाने के अलावा दूसरा कोई विकल्प नहीं रहता। या तो गेंदबाज बोल्ड होता है या एलबीडबल्यू। लेकिन यह भी सच है कि योर्कर गेंद डालना मुश्किल भी है। हर कोई गेंदबाज परफेक्ट योर्कर नहीं डाल सकता। एकाद योर्कर ओवर में डालदे, तो भी बार-बार योर्कर डालना कठिन होता है। यदि गेंद थोड़ी भी ईधर-उधर चली गई, बल्लेबाज उसे फूलटॉस गेंद बनाकर सीमा रेखा के पार पहुंचा सकता है।

 

अब बात करते हैं कल के फाईनल मैच की। आखिरी ओवर में लसीथ मलिंगा ने एक नहीं चार योर्कर गेंदें डालीं। आखिरी ओवर में लसीथ की छः गेदों में से पहली पांच गेंदें 140 किमी प्रति घंटे की रफ्तार से आईं। अब आखिरी गेंद पर चैन्नई सुपरकिंग्स को चैंपीयन बनने के लिये दो रन चाहिये थे। शृदल ठाकुर बल्लेबाजी कर रहे थे। लसीथ मलिंगा ने जबरदस्त योर्कर डाली और बल्लेबाज एलबीडबल्यू हो गया और मैच खत्म। मलिंगा ने आखिरी योर्कर गेंद धीमी डाली जिसकी गति थी 112 किमी/घंटा। इसी धीमी गेंद ने मुंबई ‌इंडियन्स को प्रतियोगिता का चौथा खिताब दिलाया।