श्रीलंका से भारत घुसने की फिराक में 15 IS आतंकवादी, लक्षद्वीप और केरल में हाई अलर्ट


(Photo Credit : wall-street.com)

लक्षद्विप प्रशासन ने 15 इस्लामिक स्टेट आईएस (IS) के आतंकवादीओं की नावों पर सवार होकर कथित रूप से श्रीलंका से लक्षद्विप रवाना होने के बारे में एक गुप्त रिपोर्ट के बाद मंगलवार को एक एजेंसी ने सुरक्षा समीक्षा बैठक की। लक्षद्वीप प्रशासन के प्रवक्ता ने कहा कि केंद्र शासित प्रदेश के गवर्नर फारूक खान ने स्थानीय प्रशासन, नौसेना और तटरक्षक बल के वरिष्ठ अधिकारियों के साथ कवरत्ती में बैठक की थी। उन्होंने कहा कि नौसेना के अधिकारियों ने खान को बताया कि नौसेना और तटरक्षक दोनों जहाज लक्षद्वीप की सभी द्वीपों में गश्त बढ़ाने के लिए काम कर रहे हैं।

रिपोर्ट के अनुसार, नौसेना के समुद्री पैट्रोलिंग विमानों द्वारा निगरानी की जा रही है और लक्षद्वीप के किसी भी द्वीप में इस तरह की घुसपैठ को रोकने के लिए हर संभव प्रयास किए गए हैं। नौसेना की बैठक में, यह भी कहा गया कि सुहेली द्विप के पास तमिलनाडु के एस.एस. रफाई नामक एक नाव को गिरफ्तार किया था, जिसमें चालक दल के आठ सदस्य सवार थे, उनकी झूठे पंजीकरण दस्तावेजों के साथ गिरफ्तारी की गई है।

वरिष्ठ पुलिस अधीक्षक (एसएसपी) शिबेश सिंह ने बैठक में इस बारे में बताया कि पुलिसकर्मी इलाके में हाई अलर्ट पर है और सभी यात्रि जेट्टी और फिल लैंडिंग जेट्टी को कड़ी सुरक्षा के बीच रखा गया है। उन्होंने कहा कि नौसेना, तटरक्षक बल, सीआरपीएफ, स्थानीय पुलिस और खुफिया एजेंसियों सहित सभी सुरक्षा बलों को हाई अलर्ट पर रहने के लिए निर्देशित किया गया है।

प्रवक्ता ने कहा कि खान ने एजेंसियों को अगत्ती द्वीप पर विशेष सुरक्षा सुनिश्चित करने का निर्देश दिया है। आतंकवादियों की संदिग्ध गतिविधियों की गुप्त सूचना सबसे पहले 23 मई को श्रीलंकाई अधिकारियों को मिली थी और केरल पुलिस भी तब से हाई अलर्ट पर है।