मोदी के शपथ ग्रहण के बाद भीड़ में फंसी आशा भोसले को जानिये किसने की मदद


(Photo: IANS)

गुरुवार को नई दिल्ली में लगातार दूसरी बार प्रधानमंत्री के रूप में नरेन्द्र मोदी ने शपथ ली। राष्ट्रपति भवन परिसर में इस अवसर पर भव्य कार्यक्रम का आयोजन किया गया था। लगभग आठ हजार अतिथियों ने इस शपथ ग्रहण समारोह में हिस्सा लिया। शपथ ग्रहण कार्यक्रम पूरा होने के बाद राष्ट्रपति भवन से बाहर निकलने के लिये मानो होड़ सी मच गई। भारी भीड़ के बीच प्रसिद्ध पार्श्व गायिका आशा भोसले बुरी तरह फंस गई। वे भी नई सरकार के गठन के इस मौके पर आमंत्रित की गई थी और ठेठ मुंबई से इस ऐतिहासिक पल का हिस्सा होने पधारी थी।

कार्यक्रम की समाप्ति के बाद के बुरे अनुभव को बयां करते हुए आशा भोसले ने ट्वीट पर लिखा कि शपथ ग्रहण समारोह के बाद भारी भीड़ में मैं फंस गई। कोई मेरी मदद के लिये आगे नहीं आया सिवाय स्मृति ईरानी के। उन्होंने मेरी तकलीफ को समझा और सु‌निश्चित किया कि मैं सकुशल घर पहुंच जाऊं। वह ध्यान रखती हैं और इसीलिये चुनाव जीती हैं।

 

स्मृति ईरानी जिन्होंने कल केंद्रीय मंत्री के रूप में शपथ भी ली, ने आशा भोसले के ट्वीट के उत्तर में हाथा जोड़ने वाली इमोजी ट्वीट की।

बता दें कि स्मृति ईरानी ने कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी को उनकी पारंपरिक सीट अमेठी से करारी शिकस्त दी है। विगत दो चुनावों में हार का मुंह देख चुकी स्मति ईरानी अपने संसदीय क्षेत्र में डटी रही, लोगों से संपर्क करती रहीं और आखिरकार मानो बड़ा शिकार करने में कामयाब रही।

इस जीत के बाद स्मृति ईरानी ने मुंबई के सिद्धि विनायक मंदिर की 14 किमी की दूरी पैदल चल कर पूरी कर शायद जीत के लिये मांगी गई मन्नत को भी पूरा किया। स्मृति की पुरानी मित्र और टीवी धारावाहिकों की प्रसिद्ध निर्माता एकता कपूर ने अपने इन्सटाग्राम एकाऊंट से एक फोटो भी शेयर की जिसमें लिखा था, ‘14 किमी की सिद्धि विनायक की यात्रा के बाद चेहरे पर चमक!’

https://www.instagram.com/p/Bx_t8IWA7Ek/?utm_source=ig_web_copy_link

खैर, अब देखना यही है कि इस बार स्मृति ईरानी को मोदी सरकार में कौन सा विभाग मिलता है।