JNU : छात्रसंघ अध्यक्ष 3 दिन के रिमांड पर


नई दिल्ली । जवाहरलाल नेहरू विश्वविद्यालय छात्र संघ के अध्यक्ष कन्हैया कुमार को देशद्रोह और आपराधिक षड्यंत्र के आरोप में दिल्ली पुलिस ने शुक्रवार को गिरफ्तार कर लिया। पुलिस ने कन्हैया को कोर्ट में पेश किया जहां से उन्हें तीन दिन की पुलिस हिरासत में भेज दिया गया। पुलिस ने कोर्ट से पांच दिनों की पुलिस हिरासत मांगी लेकिन कोर्ट ने तीन दिन की पुलिस रिमांड को मंजूरी दी। पुलिस इस बात की जांच करना चाहती है कि कहीं कन्हैया के संबंध देश विरोधी ताकतों के साथ तो नहीं है। है। जेएनयू में आयोजित एक कार्यक्रम के दौरान कथित तौर पर देश के खिलाफ और आतंकवादियों के समर्थन में नारेबाजी हुई थी।

जेएनयू के देशद्रोहियों पर कार्रवाई करे सरकारः कुमार
नई दिल्ली। दिल्ली के जवाहरलाल नेहरू यूनिवर्सिटी में देश विरोधी गतिविधि पर आम आदमी पार्टी (आप) के नेता कुमार विश्वास की तरफ से सख्त प्रतिक्रिया आई है। पार्टी नेता कुमार विश्वास ने कहा है कि दिल्ली पुलिस को जेएनयू मामले में जल्द कार्रवाई कर देशद्रोहियों को गिरफ्तार करना चाहिए। विश्वास ने ट्वीट कर लिखा कि भारत सरकार को जेएनयू में देश विरोधी नारे लगाने वालों पर कार्रवाई कर एक सख्त संदेश देना चाहिए। कुमार विश्वास ने एक और ट्वीट में लिखा भारतीय कानून में ऐसी गतिविधियों के लिए धाराएं हैं। भारत सरकार को राष्ट्र विरोधियों पर कड़ी कार्रवाई करनी चाहिए।

जेएनयू और प्रेस क्लब ऑफ इंडिया में भी लगे देशविरोधी नारे
नई दिल्ली । दिल्ली की जवाहरलाल नेहरू यूनिवर्सिटी में गुरुवार को कुछ छात्रों ने संसद पर हमले के दोषी आतंकी अफजल गुरु की बरसी मनाई और इस मौके पर देश विरोधी नारे भी लगाए गए। लेकिन राष्ट्र विरोधी नारे सिर्फ जेएनयू में ही नहीं लगे। ठीक ऐसा ही मामला दिल्ली के प्रेस क्लब में भी हुआ। १० फरवरी को दिल्ली के प्रेस क्लब में आतंकी अफजल गुरु की बरसी के मौके पर एक कार्यक्रम का आयोजन किया था। यहां पर भी देशविरोधी नारे लगाए गए। आरोप है कि दिल्ली विश्वविद्यालय के कुछ प्रोफेसरों ने पार्टी में पाकिस्तान जिंदाबाद के नारे लगाने शुरू कर दिए। इन लोगों ने अफजल गुरु जिंदाबाद, पाकिस्तान जिंदाबाद और भारत के खिलाफ जमकर नारे लगाए। इस मामले में भी दिल्ली के संसद मार्ग पुलिस स्टेशन में एफआईआर दर्ज करवाई गई है। ये केस संसद हमला मामले में बरी हुए एसएआर गिलानी समेत अन्य लोगों के खिलाफ दर्ज किया गया है। गिलानी इस इवेंट के आयोजक थे। पुलिस का कहना है कि जिन लोगों ने देश विरोधी नारे लगाए हैं उनको बख्शा नहीं जाएगा। पुलिस डीयू के प्रोफेसर अली जावेद से भी पूछताछ करने वाली है। बता दें कि प्रेस क्लब ऑफ इंडिया ने ही कल दिल्ली पुलिस को शिकायत दी थी। वहीं प्रेस क्लब के चेयरमैन राहुल जलाली का कहना है कि हम इसकी निंदा करते हैं। पुलिस तहकीकात कर रही है। रिव्यू कर रहे हैं कि दोबारा ऐसा ना हो। हॉल बुकिंग की प्रक्रिया को सख्त करना होगा। वहीं प्रेस क्लब ऑफ इंडिया ने अपने परिसर में संवाददाता सम्मेलन के दौरान अफजल गुरू के समर्थन में नारेबाजी किए जाने के एक दिन बाद उन सदस्यों को आज कारण बताओ नोटिस जारी किया है जिन्होंने कार्यक्रम के लिए कान्फ्रेंस हॉल बुक किया था। प्रेस क्लब के महासचिव नदीम अहमद काजमी ने कहा कि हम इस घटना की सख्त निंदा करते हैं जिसे कल बदमाशों ने प्रेस क्लब परिसर में अंजाम दिया है। हमने उन सदस्यों के खिलाफ सख्त कार्रवाई की है जिनके हस्ताक्षर से कान्फ्रेंस हॉल लिया गया था। कारण बताओ नोटिस जारी किया गया है और इसके बाद आगे की कार्रवाई की जाएगी। संपर्क किए जाने पर दिल्ली विश्वविद्यालय के प्रोफेसर एवं क्लब के सदस्य अली जावेद ने इस आयोजन से दूरी बनाते हुए कहा कि वह इस तरह की हरकतों को स्वीकार नहीं करते और किसी भी सूरत में वह आयोजकों में शामिल नहीं थे। जावेद उन लोगों में शामिल थे जिन्होंने क्लब परिसर बुक किया था।