संयुक्त राष्ट्र ने बताया क्यों रहेगी इस वर्ष भारत की विकास दर कम


(Photo Credit : mapsofindia.com)

भारत के मजबूत वर्चस्व उत्पादन और निवेश से आर्थिक वृद्धि दर 2019 में 7.0% और 2020 में 7.1% होने का अनुमान लगाया गया है। यह अनुमान संयुक्त राष्ट्र की एक रिपोर्ट में लगाया गया है। रिपोर्ट के अनुसार, 2018 में आर्थिक विकास दर 7.2 प्रतिशत थी, हालांकि 2019 के मध्य में, संयुक्त राष्ट्र विश्व आर्थिक स्थिति और प्रॉस्पेक्टस रिपोर्ट ने भविष्यवाणी की थी कि इस साल जनवरी में जारी आंकड़ों की तुलना में विकास दर कम होगी। उस समय 2019 और 2020 के लिए आर्थिक विकास दर क्रमशः 7.6 और 7.4% रहने का अनुमान लगाया गया था।

उल्लेखनीय है कि मानसून पर अल नीनो के प्रभाव और वैश्विक गिरावट के कारण रिजर्व बैंक ने चालू वित्त वर्ष के लिए आर्थिक विकास दर को भी कम करके 7.2% कर दिया है, जबकि पहले यह अनुमान 7.4% था।

रिपोर्ट में कहा गया है कि दक्षिण एशिया के आर्थिक विकास में इन्फ्रास्ट्रक्चर की कमी अवरोधरूप बन रही है। चीन की आर्थिक विकास दर भी 2018 की तुलना में गिरने की उम्मीद है। 2018 में, चीन की आर्थिक विकास दर 6.6% थी, जो कि 2019 में 6.3% और 2020 में 6.2% रहने की उम्मीद है।

वैश्विक आर्थिक विकास दर के बारे में बताया गया है कि अमेरिका और चीन के बीच व्यापार विवाद, अंतर्राष्ट्रीय स्तर पर नीतिगत अनिश्चितता और कंपनियों के खराब आत्मविश्वास से आर्थिक विकास दर को चुनौती मिलेगी।