पति ने पत्नी को जलाया फिर भी पत्नी ने पति की सज़ा माफ कराई…


(Photo Credit : newsfromnadia.in)

अहमदाबाद में एक पति ने आठ साल पहले अपनी पत्नी को जलाने का प्रयास किया , पति और उसके परिवार वालों ने महिला पर केरोसिन फेंक कर आग लगाई थी, जिसके कारण पत्नी गंभीर रूप से घायल हो गई और उसे इलाज के लिए अस्पताल ले जाया गया। तब पति पर पुलिस केस हुआ और पूरा मामला अदालत में पहुंच गया, इस घटना में सौभाग्य से महिला बच गई और इस घटना के आठ साल बाद, पत्नी ने अदालत में प्रस्ताव किया कि उनके पति की सजा माफ की जाए।

प्राप्त जानकारी के अनुसार, 8 साल पहले नूरजहां कचोट पर उसके ससुराल वालों ने इकट्ठा होकर केरोसिन छिड़का और नूरजहाँ कचोट के पति ने आग लगा दी। इस पूरी घटना में, नूरजहाँ कचोट गंभीर रूप से घायल हो गई थी। घटना के बाद लोग जमा हो गए थे और घायल नूरजहां को इलाज के लिए अस्पताल ले गए। जहां सौभाग्य से इलाज के बाद उसे बचा लिया गया।

इलाज कराने के बाद, नूरजाह ने अपने पति के खिलाफ जिला न्यायालय में एक मामला दायर किया और न्याय की मांग की। सबूतों के आधार पर अदालत ने पति को तीन साल की सजा सुनाई। उसके बाद पूरा मामला हाईकोर्ट पहुंचा और हाईकोर्ट ने उसे जमानत दे दी। जमानत मिलने के बाद दोनों पति-पत्नी के बीच समझौता हो गया और वे सुख से रहने लगे। जब इस मामले को फिर से छह साल बाद उच्च न्यायालय में सुनवाई के लिए लाया गया, तो नूरजाह ने एक अर्जी दाखिल कर पति की सजा को माफ करने के लिए उच्च न्यायालय में दरख्वास्त की।