गुजरात के कई स्थानों पर भी आएगा ‘वायु’ चक्रवात, सुरुक्षित रहने के लिए इन बातों का ध्यान रखें


(Photo Credit : skymetweather.com/)

भारत के दक्षिण में हिंद महासागर में उत्पन्न हुआ हवा का लो प्रेशर चक्रवात में तब्दील हो कर दक्षिण गुजरात, सौराष्ट्र और कच्छ की ओर आ कर नुकसान की संभावना होने के कारण तंत्र सावधान हो गया है। उपलब्ध जानकारी के अनुसार, 12 जून से लोगों को 24 घंटे तक सतर्क रहने के निर्देश दिए जा रहे हैं। क्योंकि वायु नाम का यह चक्रवात 100 किमी प्रति घंटे की रफ्तार से चल सकता है और काफी क्षती पहुंचा सकता है।

यदि आपके क्षेत्र को ‘वायु’ चक्रवात से पीड़ित होने का संदेह है, तो बस नीचे दिए गए निर्देशों का पालन करें, ताकि हताहत या आघात से बचा जा सके।

यदि आपकै क्षेत्र में ‘वायु’ तुफानकी सूचना है, तो ऐसा करें:

  • यदि चक्रवात ने प्रहार किया तो इलेक्ट्रिक के खंबे या इलेक्ट्रिक हैवी लाइन, पेड़, छोटे- बड़े होर्ड‌िंग्स, जीर्ण-शीर्ण घरों का सहारा न लें।
  • हो सके तो घर पर ही रहें। नदी किनारे न रहें और नदी किनारे पर रहने वाले लोगों को तट से दूर जाना चाहिए।
  • किसी आकस्मिक आवश्यकता के लिए या किसी को बचाने के लिए फायर ब्रिगेड से संपर्क करें।
  • इस समय में नदी में खेलने ना जाएं।
  • घर के आसपास सूखी या क्षतिग्रस्त पेड़ों को काट दें।
  • शेड के कोई पेच ढीले तो नहीं हो गए जांच लें। क्योंकि चक्रवात में यह तलवार का काम करता है।
  • यदि घर के चारों ओर कोई ऐसा साइन बोर्ड है, जो एक झटके में टूट सकता है, तो इसे हटा दें।
  • घर पर बैटरी सेल की जांच कर लें। बैटरी चार्ज होने वाली है तो उसे पहले से चार्ज करलें। मोमबत्तियों और माचिस का स्टॉक रखें। क्योंकि, अगर बिजली दो से तीन दिनों तक चली जाती है, तो यह काम आ सकता है।
  • इसके अलावा, बुखार, जुकाम, डायरिया जैसी सामान्य दवाओं का स्टॉक करें और प्राथमिक चिकित्सा किट का इंतजाम करके रखें।
  • तूफान के समय और बाद में उबला हुआ पानी पीने पर जोर दें, ताकि बीमारी से बचा जा सके।
  • अगर घर के आसपास कोई जर्जर इमारत है, तो उसे पहले ही हटा दें, क्योंकि चक्रवात के समय ऐसी इमारत किसी की जान भी ले सकती है।
  • घर में रेडियो रखें क्योंकि चक्रवात के दौरान बिजली, टीवी, मोबाइल, इंटरनेट कुछ नहीं चलेगा। मोबाइल के लिए पावर बैंक को भी चार्ज करें।
  • खाने-पीने की चीजों का स्टॉक करें और ऐसी चीजें रखें जो खराब न हों। क्योंकि फ्रिज बिजली के बिना काम नहीं करेगा। साथ ही, चक्रवात के समय दुकानें, होटल आदि बंद रहेंगे।
  • चक्रवात के दौरान बारिश हो सकती है, इसलिए यदि आपका घर जीर्ण-शीर्ण है, तो उसमें रहने के बजाय सुरक्षित स्थान पर रहें।
  • बारिश के कारण घर में पानी भर सकता है, इसलिए बिजली के उपकरणों, बिस्तर इत्यादि को सुरक्षित स्थान पर पहुंचा दें।
  • यदि प्रशासन ने क्षेत्र खाली करने के लिए निर्देश दिया है, तो अपने मकान को छोड़ दें और तुरंत सुरक्षित स्थान पर चले जाएं।