एक बार फिर शिक्षक का पद हुआ शर्मिंदा, विवाहित शिक्षक स्कूल की छात्रा को भगा ले गया


(Photo Credit : youtube.com)

शिक्षक का स्थान सभ्य समुदाय में हमेशा ऊँचा होता है, लोग हमेशा शिक्षक को सम्मान की दृष्टि से देखते हैं, क्योंकि शिक्षक बच्चों में अच्छे गुणों का सिंचन करते है। लेकिन अगर शिक्षक किसी छात्र के प्रेम जाल में फंस जाता है, तो ऐसे शिक्षक को किस दृष्टी से देखें? आज हम ऐसे ही एक शिक्षक के बारे में बात करने जा रहे हैं। शिक्षक जिस स्कूल में कार्य करता था, उसी स्कूल की 12 वीं कक्षा के विज्ञान की एक छात्रा को भगा के ले गया और हाँ, महत्वपूर्ण बात यह है कि शिक्षक पहले से ही शादीशुदा था और वह 2 बच्चों का पिता भी है।

प्राप्त जानकारी के अनुसार, आनंद के आंकलाव गांव की हाई स्कूल के प्राथमिक विभाग में बर्षों से कक्षा 5 से 8 तक के बच्चों को अध्ययन कराने वाले धर्मेंद्र सिंह परमार ने उसी स्कूल में पढ़ने वाली कक्षा 12 विज्ञान की छात्रा को प्रेम जाल में फसा लिया और शिक्षक धर्मेंद्र सिंह परमार 7 मई को छात्रा को लेकर फरार हो गए थे। छात्रा के देर रात तक घर नहीं पहुंचने पर परिवार के लोग चिंतित थे और परिजनों ने छात्र की खोजबीन शुरू की। छात्रा के माता-पिता ने अपने रिश्तेदारों, छात्रा के दोस्तों के घर पर पूछताछ की की बेटी है या नहीं। लेकिन छात्रा का कोई अता पता नहीं था।

इसके बाद छात्रा की मां ने घर से एक नोट प्राप्त किया जिसमें लिखा था, ‘मुझे माफ करना मम्मी मैं जा रही हूं, मुझे खोजना नहीं, मैं वापस नहीं लौटूंगी।’ इस प्रकार का पत्र मिलते ही छात्रा की मां ने मामले के बारे में पुलिस स्टेशन में शिकायत दर्ज की। एक विवाहित दंपति और दो बच्चों के पिता होने के बावजूद, एक 12वीं कक्षा की छात्रा को भगा लेजाने वाले शिक्षक के प्रति गाँव के लोगों के मन में आक्रोश भर गया था। इस मामले में, पुलिस ने एक शिकायत दर्ज करके छात्रा को भगा ले जाने वाले शिक्षक धर्मेंद्र सिंह की जांच शुरू की।