सूरत आग घटना में फरिश्ता बनके आया केतन, बिना अपनी परवाह किये जान बचाई बच्चों की


(Photo Credit : khabarchhe.com)
सूरत में हुए आग हादसे मेंएक युवक ने वास्तव में एक नायक की तरह काम किया। केतन जोरवाडिया नाम के एक युवक ने अपनी जान की परवाह किए बिना कई लोगों की जान बचाई।
तक्षशिला आर्केड में आग की घटना का अपनी आंखो से देख रहा केतन जोरवाडिया नाम का एक युवक दुसरे लोगों की तरह भीड़ का हिस्सा बनकर नहीं रह पाया। उसको ऊपर फसे विद्यार्थीयों की चिंता थी। वह बिना किसी देरी के शिफ्ट की मदद से चौथी मंजिल पर भी चढ़ गया, और बच्चों को अपने जीवन को जोखिम में डाल कर नीचे उतारने का प्रयास किया। केतन द्वारा किए गए काम की हर जगह सराहना की जा रही है।
केतन ने मीडिया से बातचीत में बताया कि जैसे ही आग लगी वह सीढ़ियों के पास भागा, और पहले बच्चों को बाहर निकलने में मदद की। ८ से १० बच्चे सुरक्षित बाहर निकल गये उसके बाद भी मैं वहीं रूका रहा और दो और बच्चों को निकाला। हादसे के लगभग ४५ मिनट बाद फायर ब्रिगेड घटना स्थल पर पहुंची थी।
दूसरी ओर, भाजपा के पूर्व विधायक प्रफुल्ल पानसेरिया भी घटना के दौरान वहां से गुज़र रहे थे तो उन्होने लोगों को इकट्ठा करके ऊपर से कूद रहे बच्चों बच्चों को पकड़ने की कोशिश की। हालांकि, कुछ बच्चे घायल हो गए थे। एक ही एम्बुलेंस होने के कारण, पानसेरिया ने बच्चों को अस्पताल पहुंचाने के लिए अपने इनोवा को एम्बुलेंस में बदल दिया।
(Photo Credit : pustakbhoomi.blogspot.com)