स्टैच्यू ऑफ युनिटी देखने सीधे मत पहुंच जाना, नहीं तो व्यूईंग गैलेरी तक नहीं जा पाओगे!


yatra.com

देश के सबसे लोकप्रिय स्मारकों में शुमार हो चुके और आगरा के ताजमहल को भी पीछे छोड़ चुके गुजरात के केवडिया स्थित स्टैच्यू ऑफ युनिटी जाने का आप भी प्लान बना रहे हैं, तो ये खबर आपके लिये ही है।

स्टैच्यू ऑफ युनिटी का पूरा परिसर ही वैसे तो बड़ा आकर्षक और देखने लायक है, लेकिन इस स्मारक का सबसे लोकप्रिय हिस्सा है सरदार पटेल की प्रतिमा के मध्य में बनी व्यूईंग गैलेरी। यदि आप स्टैच्यू ऑफ युनिटी गये और व्यूईंग गैलेरी नहीं जा पाए तो आपकी यात्रा अधूरी ही मानी जायेगी। लेकिन दुर्भाग्य से अधिकांश पर्यटकों की हालत ऐसी ही है।

दरअसल, स्टैच्यू ऑफ युनिटी परिसर में पर्यटकों के लिये कुल तीन श्रेणी की टिकटें रखी गई हैं। 120 रु., 150 रु. और 380 रु.। इसमें 380 रुपये वाली टिकट खरीदने पर ही आपको व्यूईंग गैलेरी में जाने दिया जायेगा। अब मामला यह है कि इन तीनों प्रकार की टिकटों में से व्यूईंग गैलेरी वाली 380 रु. की टिकट केवल ऑनलाईन ही खरीदी जा सकती है। अधिकांश पर्यटकों को पता ही नहीं होता और वे सीधे केवडिया पहुंच जाते हैं और केवल परिसर घूम कर निराश भाव से लौटना पड़ता है।

ऐसे में यदि आप भी केवडिया जा रहे हैं, तो एडवान्स में प्लानिंग कीजिये और 380 रु. वाली स्टैच्यू ऑफ युनिटी की व्यूईंग गैलेरी की टिकट घर बैठे ऑनलाईन बुक कराने के बाद ही जाएं।

बता दें कि स्टैच्यू ऑफ युनिटी की व्यूईंग गैलेरी में तक पहुंचने के लिये 25 लोगों की क्षमता वाली दो लिफ्ट लगाई गई हैं और दिन भर में इसके माध्यम से 7000 लोगों को गैलेरी तक पहुंचाने की क्षमता है। दूसरी ओर यहां दैनिक 25 हजार से भी अधिक सैलानी आ रहे हैं।

एक प्रशासनिक अधिकारी ने पर्यटकों की शिकायत को स्वीकार करते हुए कहा कि बगैर जानकारी के सीधे यहां आ जाने वाले सैलानी गैलेरी जक नहीं पहुंच पा रहे हैं, लेकिन प्रशासकों के हाथ भी बंधे हैं। उनके पास सीमित क्षमता है। इसके लिये प्रचार-माध्यमों और सोशल मीडिया के मारफत लोगों को जागरूक करने का प्रयास किया जा रहा है। उधर सैलानियों की मांग है कि गैलेरी की 7000 में से कुछेक प्रतिशत टिकट ऑफलाईन भी बेची जानी चाहिये।

खैर, जब तक कोई वैकल्पिक व्यवस्था नहीं होती, यदि आप भी स्टैच्यू ऑफ युनिटी जा रहे हैं तो घर से पहले 380 रु वाली टिकट खरीद कर ही जाना।