देश में रक्त की कमी फिर भी इतने लोगों ने कभी रक्तदान नहीं किया


(Photo Credit : bbci.co)

विश्व भर में 14 जून को रक्तदान दिवस के रूप में मनाया जाता है। इस अवसर पर कई स्थानों पर रक्तदान शिविर का आयोजन किया गया था। लोगों ने बड़ी संख्या में रक्तदान किया, लेकिन देश में अभी भी रक्त की कमी है। आपको जानकर हैरानी होगी कि देश में 56% लोग रक्त दान नहीं कर सकते हैं या दान नहीं करना चाहते हैं। विश्व रक्तदाता दिवस पर यूसी ब्रोसर द्वारा किए गए सर्वेक्षण में यह बात सामने आई है। 

सर्वेक्षण में देश के 70 हजार लोगों को शामिल किया गया। आंकड़ों के मुताबिक, देश में 56% लोगों ने स्वीकार किया है कि उन्होंने कभी भी रक्तदान नहीं किया है। सर्वेक्षण में लोगों को इस बात का अंदाज़ है कि रक्तदान करना कितना महत्वपूर्ण है। और इससे लोगों की जान बचाई जा सकती है, लेकिन इस बारे में जानकारी का अभाव भी है। उन्हें यह भी नहीं पता है कि रक्तदान कैसे और कहां किया जाता है। 

कई लोगों ने ब्लड बैंक की विश्वसनीयता पर भी सवाल उठाए और कुछ ने यह भी आशंका जताई कि उनके रक्त को लाभ के लिए बेचा जा रहा है। इस संबंध में, जब लोकसभा में प्रस्तुत एक रिपोर्ट की माने, तो 14 राज्यों के 76 जिले ऐसे हैं, जहां अभी तक एक भी ब्लड बैंक नहीं है।

अच्छे रक्त की कमी और अच्छी मशीन नहीं होने के कारण 5,21,791 लीटर रक्त खराब हो जाता है, और शायद यह भी एक कारण यह भी है कि लोग अपना रक्त नहीं खोना चाहते हैं और रक्तदान नहीं करना चाहते हैं।