नरेन्द्र मोदी को प्रधानमंत्री न मानने के ममता के बयान पर भाजपा का पलटवार


(PC : inkhabar.com)

पिछले दिनों ओडिशा, पश्चिम बंगाल आदि पूर्वी भारत के इलाकों में आये चक्रवात फोनी के बाद प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ने प्रभावित इलाकों के विषय में बातचीत के लिये संबंधित राज्यों के मुख्यमंत्रियों को फोन पर संपर्क किया था। ओडिशा के मुख्यमंत्री नवीन पटनायक के साथ तो मोदी ने न सिर्फ बात की बल्कि प्रभावित इलाकों का हवाई दौरा भी किया। लेकिन दूसरी ओर पश्चिम बंगाल की मुख्यमंत्री ममता बैनर्जी ने प्रधानमंत्री कार्यालय की ओर से साधे गये संपर्क का प्रतिभाव नहीं दिया। उसके बाद ममता का एक बयान आया जिसमें उन्होंने कहा कि वे प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी को ‘अपना प्रधानमंत्री’ मानती ही नहीं। इसी बयान पर सियासत गर्मा गई है और भाजपा ने अपने तेवर कड़े कर लिये हैं।

भाजपा नेता राम माधव ने ममता बैनर्जी के बयान को दुर्भाग्यपूर्ण करार देते हुए कहा है कि उन्हें हर मामले में राजनीति ही नजर आती है। बंगाल में जंगलराज और तानाशाही चल रही है। चुनाव में हिंसा इस हद तक हावी है कि चुनाव आयोग को केंद्रीय सुरक्षा बलों को तैनात करना पड़ा है।

उधर ममता के तेवर अभी भी नरम नहीं पड़े हैं। पुरलिया की एक सभा में मंगलवार को उन्होंने मोदी पर हमला बोलते हुए कहा कि उनके (ममता) के लिये पैसा महत्वपूर्ण नहीं है। इसीलिये जब नरेन्द्र मोदी बंगाल आये हमारी पार्टी को टॉलबाज़ होने का आरोप लगाया, तभी से मैं उन्हें एक लोकतांत्रिक तमाचा मारना चाहती थी।