5 जून से फिर शुरू होगा जाट आंदोलन, प्रसाशन सतर्क


चंडीगढ़  . 5 जून से हरियाणा में फिर से शुरू होने जा रहे जाटों के आंदोलन को देखते हुए इस बार सरकार ने भी कमर कस ली है. मुख्यमंत्री मनोहर लाल ने इस बार कड़ी कार्रवाई के संकेत दिए हैं. इसकी कड़ी में सोनीपत और झज्झर में सीआरपीएफ की कंपनियां तैनात कर दी हैं.

सीआरपीएफ ने पश्चिमी यमुना लिंक नहर पर संभाल लिया है. यहीं से दिल्ली के लिए पानी की सप्लाई होती है.

उधर झज्जर में सीआरपीएफ की एक कंपनी बुलाई गई है. साथ ही प्रशासन के अधिकारी गांव-गांव जाकर लोगों से अपील कर रहे हैं कि वह आंदोलन के दौरान हिंसा न करें.

बवानीखेड़ा में पुलिस ने आम जनता के साथ मीटिंग की है. पुलिस ने लोगों से कहा कि वो किसी के बहकावे में न आएं और भाईचारा बनाए रखें. आपको बता दें कि जाट आरक्षण पर पंजाब हरियाणा हाईकोर्ट की ओर से अंतरिम रोक लगने के बाद जाटों ने पांच जून से आंदोलन की चेतावनी दी है.

गौरतलब है कि पिछली बार हुए हिंसक आंदोलन में पूरे हरियाणा में हिंसा फैल गई थी. जिसमें कई लोगों की जान चली गई और करोड़ों रुपए की संपत्ति का नुकसान हो गया था.