2030 में भारत विज्ञान और प्रौद्योगिकी के क्षेत्र में टॉप 3 देशों में होगा : मोदी


प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने मंगलवार को तिरूपति में श्री वेंकेटेश्वर विश्वविद्यालय में पांच दिवसीय भारतीय विज्ञान कांग्रेस का उद्घाटन किया। इस दौरान पीएम ने देश के वैज्ञानिकों का आभार व्यक्त करते हुए कहा कि वैज्ञानिकों ने हमेशा देश को आगे बढ़ाने का काम किया है।  पीएम ने कहा कि विज्ञान के माध्यम से ही लोगों की महत्वाकांक्षा को पाया जा सकता है। हमारे वैज्ञानिकों ने देश की नीतिगत दृष्टिकोण में दृढ़ता से योगदान दिया है। पीएम ने कहा कि भारत विज्ञान और प्रौद्योगिकी के क्षेत्र में 2030 में भारत टॉप 3 देशों में होगा शामिल होगा।

पीएम मोदी ने कहा कि हम तकनीक पर हमेशा ध्यान रखेंगे और विकास के लिए उनका लाभ उठाने को हमेशा तैयार रहेंगे. हमें सेवा और विनिर्माण क्षेत्र में तकनीकों को विकसित करने की जरूरत है।   सरकार सभी तरह के विज्ञान को समर्थन देने के लिए प्रतिबद्ध है।   पीएम ने कहा कि विज्ञान को लोगों की आकांक्षाओं को आवश्य पूरा करना चाहिए।   हमारे अवसंरचना और समाज कल्याण से जुड़े मंत्रालयों को विज्ञान का अवश्य उपयोग करना चाहिए।  हमारे वैज्ञानिकों ने देश की नीतिगत दृष्टिकोण में दृढ़ता से योगदान दिया है।   पीएम ने नोबेल शांति पुरस्कार विजेताओं समेत मशहूर वैज्ञानिकों की सभा को संबोधित करते हुए ये बातें कहीं।

इसमें देशभर के 14,000 वैज्ञानिकों और विद्वानों के अलावा अमेरिका, जापान, इजरायल, फ्रांस और बांग्लादेश जैसे विभिन्न देशों के छह नोबेल पुरस्कार विजेताओं ने भी हिस्सा लिया।