15 अगस्त को खुले मंच से भाषण नहीं दे सकेंगे मोदी, जान का खतरा, सुरक्षा एजेंसियों ने किया आगाह


नर्इ दिल्ली। प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी इस 15 अगस्त को देश को संबोधित करेंगे। माेदी ने  2014 आैर 2015 में स्वतंत्रता दिवस पर खुले मंच से संबोधित किया था।सुरक्षा एजेंसियों ने इस बार पीएम मोदी की जान को खतरा बताते हुए बुलेटप्रूफ इनक्लोजर से भाषण देने की सलाह दी है। खुफिया एजेंसियों का मानना है कि इस बार पीएम मोदी को पिछली बार की तुलना में कहीं अधिक जान का खतरा है। आर्इएस आैर अलकायदा जैसे आतंकवादी संगठन लाल किले पर हमले की फिराक में हैं। एेसे में पीएम मोदी की सुरक्षा को लेकर सुरक्षा एजेंसियों ने राष्ट्रीय सुरक्षा सलाहकार अजीत डोभाल को भी अवगत करा दिया है। सुरक्षा एजेंसियों काे उम्मीद है कि वे इस बार उनकी सलाह को अनदेखा नहीं करेंगे। साथ ही सुरक्षा एजेंसियों ने आशंका जतार्इ है कि आतंकी संगठन अपने नापाक मंसूबों को अंजाम देने के लिए ड्रोन हमलों का भी इस्तेमाल कर सकते हैं। आतंकवादी संगठन इंडियन आर्मी आैर पुलिस के ठिकानों को भी निशाना बना सकते हैं। सू़त्रों के अनुसार, सुरक्षा एजेंसियों ने कश्मीर में व्याप्त तनाव, एलआेसी पर लगतार हो रही घुसपैठ की कोशिशों आैर आर्इएस की देश में बढ़ती गतिविधियों के मद्देनजर सुरक्षा बढ़ाने का फैसला किया है।