1 करोड़ रु. के कर्जदारों के नाम होंगे सार्वजनिक


नईदिल्ली। सार्वजनिक क्षेत्र के बैंकों में एनपीए की बढ़ती ाqस्थति के कारण बेहद संवेदनशील बनी इकॉनमी की हालत को सुधारने के लिए फाइनेंस मिनिस्ट्री १ करोड़ रुपए से ज्यादा के कर्जदारों के नाम सार्वजनिक किए जाने के लिए राजी हो गई है। आरबीआई और वित्त मंत्रालय एनपीए के मसले से निपटने के लिए लगातार माथापच्ची में जुटे हैं। जानकारी के मुताबिक जिन पर बैंकों का एक करोड़ रुपए से ज्यादा का कर्ज बकाया है, उनके नाम सार्वजनिक किए जाने पर वित्त मंत्रालय सैद्धांतिक तौर पर राजी हो गया है। आरबीआई के माध्यम से बैंकों को जल्द ही यह निर्देश जारी किया जाएगा। शुक्रवार को राज्यसभा में वित्त राज्य मंत्री जयंत सिन्हा ने बताया था कि सरकार बैंकों में एनपीए कम करने के विभिन्न उपायों पर जोर दे रही है।