हिमस्खलन में बचे सैनिक को देखने पहुंचे प्रधानमंत्री


नई दिल्ली। सियाचिन हिमनद में हिमस्खलन के कारण भारी बर्पâ के नीचे छह दिनों तक दबे रहने के बावजूद जिंदा निकले लांस नायक हनुमनथप्पा को देखने प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी दिल्ली के रिसर्च एंड रेफरल अस्पताल पहुंचे। इससे पहले प्रधानमंत्री मोदी ने ट्वीटर पर पोस्ट करते हुए लिखा कि ‘सम्पूर्ण देश की प्रार्थनाओं के साथ लांस नायक हनुमनथप्पा को देखने जा रहा हूं।’ जीवित बचे लांस नायक को इलाज हेतु विशेष एयर एंबुलेंस के जरिए दिल्ली लाया गया था। सेना के सूत्रों ने बताया कि उनकी हालत नाजुक लेकिन ाqस्थर है और अस्पताल में उनके कई परीक्षण हो रहे हैं। इससे पहले बर्पâ से निकाले जाने के बाद उन्हें सियाचिन हिमनद ाqस्थत सेना के आधार शिविर ले जाया गया था और वहां से उन्हें एक विशेष एयर एंबुलेंस में दिल्ली लाया गया। गौरतलब है कि पाकिस्तान से सटी नियंत्रण रेखा (एलओसी) के पास १९,६०० पुâट की ऊंचाई पर ाqस्थत चौकी के हिमस्खलन की चपेट में आ जाने के बाद मूल रूप से कर्नाटक के निवासी थप्पा छह दिन तक २५ पुâट मोटी बर्पâ के नीचे दबे रहे। उन्हें सोमवार को बाहर निकाला जा सका। वहां पर तापमान शून्य से ४५ डिग्री नीचे था। हिमस्खलन में मद्रास रेजिमेंट के एक जुनियर कमिशन अधिकारी समेत नौ लोगों की दुखद मौत हो गई।