हिट एंड रन केसः सुको ने सलमान के विरुद्ध सुनवाई अगले हफ्ते तक टाली


नईदिल्ली। महाराष्ट्र सरकार की अपील पर सुप्रीम कोर्ट ने शुक्रवार को वर्ष २००२ के हिट एंड रन मामले में अभिनेता सलमान खान को बरी किए जाने के खिलाफ सुनवाई करते हुए १२ फरवरी तक टाल दी है। वहीं दूसरी तरफ महाराष्ट्र सरकार ने सलमान खान पर हाईकोर्ट के पैâसले को न्याय का मजाक बताया। सरकार ने कहा कि हाईकोर्ट ने तथ्य नहीं देखें, सलमान खान के खिलाफ पुख्ता सबूत हैं। बता दें कि २००२ के इस मामले में मुंबई की निचली अदालत ने सलमान खान को ५ साल की सजा दी थी, लेकिन हाईकोर्ट ने सलमान के खिलाफ सबूतों को कम मानते हुए उन्हें बरी कर दिया था।
महाराष्ट्र सरकार की ओर से पेश हुए मुकुल रोहतगी ने कोर्ट के पैâसले पर सवाल उठाते हुए पूछा कि अदालत ने घायलों के बयान को क्यों नहीं माना। सरकार ने सलमान खान के बचाव पक्ष की ओर से पेश किए गए, किसी और चालक द्वारा गाड़ी चलाए जाने की बात को भी खारिज कर दिया है। सरकार ने कहा कि अदालत के पैâसले से इस सवाल का जवाब नहीं मिला है कि घटना के समय गाड़ी आखिरकान कौन चला रहा था। रोहतगी ने कहा कि सलमान खान से शराब पी रखी खी, वह नशे में थे। लैंड व्रूâजर चला रहे थे, जिसकी टक्कर से पुâटपाथ पर सो रहे व्यक्ति की जान गई। उन्हें पता था कि उन्हें कार नहीं चलानी चाहिए थी।
उधर मामले में अभिनेता सलमान खान ने भी सुप्रीम कोर्ट में वैâवियट दायर की है। बॉलीवुड सुपरस्टार ने हाईकोर्ट के आदेश को चुनौती देने वाली महाराष्ट्र सरकार की याचिका के बाद यह कदम उठाया है। इस मामले में शीर्ष अदालत की ओर से एक पक्षीय पैâसला आने की संभावना से बचने के लिए उन्होंने वैâवियट के जरिए पक्षकार बनने की गुहार लगाई थी। गौरतलब है कि महाराष्ट्र सरकार ने २२ जनवरी को सुप्रीम कोर्ट में विशेष अनुमति याचिका (एसएलपी) दाखिल कर हिट एंड रन मामले मे सलमान खान को सभी आरोपों से मुक्त करने के बॉम्बे हाईकोर्ट के पैâसले को चुनौती दी है।