हरियाणा के जख्मों पर मरहम लगाने निकलेगा संघ


रेवाड़ी। जाट आरक्षण की आग में झुलसे हरियाणा के जख्मों पर मरहम लगाने के लिए अब राष्ट्रीय स्वयं सेवक संघ बड़ी पहल करने जा रहा है। संघ की उच्च स्तरीय बैठक में हुए निर्णय के अनुसार अब गांव स्तर तक राष्ट्रीय सद्भावना एकता यज्ञ आयोजित किए जाएंगे। विशेष बात यह है कि इस यज्ञ के लिए संघ के स्वयं सेवक घर-घर जाकर घी व समिधा (हवन-यज्ञ की लकड़ी) एकत्रित करेंगे। संघ की टीम मार्च माह में गांव-गांव व गली-गली तक पहुंचेंगी। इस दौरान प्रदेश के सभी जिला मुख्यालयों पर ऐसी बैठवेंâ आयोजित होंगी, जिनमें जात-बिरादरी के प्रधान, खापों के मुखिया, नंबरदार-सरपंच, पंचायती राज संस्थाओं के प्रतिनिधियों व गणमान्य लोग शामिल होंगे। हर बैठक में पैंतीस बिरादरी की बजाय छत्तीस बिरादरी की बात होगी। राष्ट्रीय सद्भावना एकता यज्ञ आयोजित करने के बाद अप्रैल में प्रदेश स्तर पर स्वयं सेवकों की बड़ी सामाजिक एकता रैली होगी। रैली का स्थान व तारीख तय अवश्य किया गया है, लेकिन अंतिम रूप से मुहर नहीं लगी है।