सोशल मीडिया की खबरों को अफवाह बताते हुए रेलवे ने कहा-एक जुलाई से नहीं बदलेंगे नियम


नई दिल्ली। रेलवे ने गुरुवार को कहा कि प्रतीक्षा सूची और तत्काल टिकटों की बुकिंग और उन्हें रद्द कराने के नियमों में एक जुलाई से कोई बदलाव नहीं किया जा रहा है जैसा कि सोशल मीडिया में खबर आई थी। रेलवे ने कहा कि यह नोटिस किया गया है कि विभिन्न सोशल मीडिया मंचों, व्हाट्सअप, और कुछ वेबसाइटों पर यह खबर चल रही है कि एक जुलाई से कई बदलाव किए जा रहे हैं और कई सुविधाएं शुरू की जा रही हैं। उसने एक विज्ञप्ति में कहा, ‘‘यह खबर पूरी तरह असत्य एवं बेबुनियाद है। मीडिया के एक वर्ग ने भी रेल प्रणाली के अधिकृत सूत्रों से पुष्टि किए बगैर ही उन्हें प्रकाशित कर दिया और उसने लोगों के दिमाग में संशय पैदा कर दिया है।’’ रेलवे ने कहा कि शताब्दी और राजधानी ट्रेनों या ट्रेन के किसी भी श्रेणी के लिए कागज टिकटों को बंद करने का प्रस्ताव नहीं है। हां, ऑनलाइन टिकट बुक कराने वाले यात्रियों के लिए, एसएमएस से प्राप्त टिकट पहचान के मान्य सबूतों के साथ यात्रा के लिए वैध है। विज्ञप्ति के अनुसान नवंबर, 2015 में अधिसूचित रिफंड नियमों में कोई परिवर्तन नहीं किया गया है।  रेलवे अक्तूबर से नई समय सारिणी लाएगा।