सोमवार को ईवीएम में बंद होगी जया, चांडी सहित कई दिग्गजों की किस्मत


चेन्नई। दो राज्यों और एक वेंâद्र शासित प्रदेश में सोमवार को मतदान होगा। ये राज्य हैं तमिलनाडु, केरल और वेंâद्र शासित प्रदेश पुड्डुचेरी। तमिलनाडु के २३४ विधानसभा चुनाव क्षेत्रों के पांच करोड़ ७९ लाख मतदाता मुख्यमंत्री पद के चार दावेदारों- अन्नाद्रमुक की जे. जयललिता, द्रमुक के एम. करूणानिधि, डीएमडीके के विजयकांत और पीएमके के अंबुमणि रामदास समेत ३,७७६ उम्मीदवारों की चुनावी किस्मत का पैâसला करेंगे। वहीं केरल में २.६१ करोड़ लोग मतदान करने के पात्र हैं और वे १४० विधायकों का १६ मई को चुनाव करेंगे, जिसके लिए १,२०३ उम्मीदवार चुनावी मैदान में हैं, जिसमें से १०९ महिला उम्मीदवार हैं।
तमिलनाडु में ३२ जिलों में पैâले २३४ विधानसभा क्षेत्रों में ६५,६१६ मतदान केन्द्र बनाए गए हैं। २०११ में इनकी तादाद ५४,०१६ थी। इनमें से ६,३०० मतदान केन्द्र संवेदनशील करार दिए गए हैं, जहां सुरक्षा व्यवस्था बढ़ाई गई है। राज्य के २३४ चुनाव क्षेत्रों में से ४४ अनुसूचित जातियों के लिए और दो अनुसूचित जनजातियों के लिए आरक्षित हैं।
केरल में जहां कांग्रेस नीत यूडीएफ और माकपा नीत एलडीएफ आमने-सामने हैं वहीं भाजपा इस चुनाव में अपना जोर लगा रही है, हालाँकि प्रधानमंत्री के सोमालिया वाले बयान के बाद भाजपा की ाqस्थति डगमगाती ऩजर आ रही है.
तमिलनाडु में बहुपक्षीय चुनाव हो रहा है। अन्नाद्रमुक, द्रमुक, पीडब्ल्यूएफ-डीएमडीके-टीएमसी गठबंधन, भाजपा नीत गठबंधन और पीएमके चुनाव में उतरे हैं।
जयललिता लगातार दूसरी बार मुख्यमंत्री बनकर राज्य में एक इतिहास रचने की कोशिश कर रही हैं, जहां हाल के दशकों में कोई पार्टी दोबारा सत्ता में नहीं लौटी है।
अन्नाद्रमुक २२७ सीटों पर चुनाव लड़ रही है। उसने कुछ छोटी र्पािटयों के साथ गठबंधन किया है। ये र्पािटयां भी अन्नाद्रमुक के चुनावी चिह्न- दो पत्ती पर ही चुनाव लड़ रही हैं। अन्नाद्रमुक महासचिव जयललिता आरके नगर से चुनाव लड़ रही हैं। इस चुनाव क्षेत्र से यह उनकी दूसरी कोशिश है।
द्रमुक ने कांग्रेस और कुछ छोटी र्पािटयों के साथ गठबंधन बनाया है। द्रमुक १८० सीटों पर चुनाव लड़ रहा है। ९१ साल के करूणानिधि अपने गृह चुनाव क्षेत्र थिरूवरूर से चुनाव लड़ रहे हैं। द्रमुक और भाजपा दोनों ने शराबबंदी और भ्रष्टाचार को अपना चुनावी मुद्दा बनाया है, जयललिता ने अपनी सरकार के पांच साल के प्रदर्शन पर जनादेश मांगा है।