सूरत में इंटरनेट बंद : जगह-जगह पुलिस तैनात


सूरत। पाटीदार आंदोलन के उग्र बनते ही सूरत में 36 घंटे तक इंटरनेट सेवा बंद करने का आदेश जारी किया गया है। एडिश्नल कमिश्नर प्रकाश मकवाणा ने इंटरनेट बंद होने की जानकारी दी है। सूरत के वराछा मानगढ़ चौक में पाटीदारों द्वारा कचरा पेटी जलाए जाने की सूचना मिली है। आगजनी के साथ-साथ पुलिस पर पथराव की खबर भी आ रही है। स्थिति को नियंत्रित करने के लिए पुलिस ने 15 से अधिक आंसू गैस के गोले छोड़े।
शहर पुलिस आयुक्त आशीष भाटिया ने पत्रकारों को बताया कि जेल भरो आंदोलन को ध्यान में रखते हुए कड़ी सुरक्षा व्यवस्था की गयी है। वराछा में उपद्रह मचाने वाले चार लोगों को गिरफ्तार किया गया है। सुरक्षा व्यवस्था बनाए रखने के लिए एसआरपी की 3 टुकड़ी और 150 जवानों को तैनात किया गया है। रविवार को दोपहर बाद अचानक स्थिति बिगड़ गयी।
पुलिस चौकी को निशाना बनाया
वराछा के मातावाडी में असामाजिक तत्वों ने पुलिस चौकी को निशाना बनाया। असामाजिक तत्वों ने पुलिस चौकी के अंदर रखे दस्तावेज, लेपटोप सहित सामानों को भारी नुकसान पहुंचाया है। ज्ञातव्य है कि अगस्त महीने में भड़की हिंसा में मातावाड़ी पुलिस चौकी को भारी नुकसान हुआ था।
वराछा में एसटी बसों का आवागमन बंद
एस टी बस निगम के सचिव के डी देसाई ने बताया कि पाटीदारों के जेल भरो आंदोलन को ध्यान में रखते हुए सुबह से वराछा से बसों का आवागमन बंद कर दिया गया था। हाल में एस टी बसों को कामरेज के बदले कड़ोदरा से होकर चलाया जा रहा है। पिछले बार हुए आंदोलन में एसटी बसों को भारी नुकसान हुआ था।