सूरत के पूर्व पुलिस आयुक्त राकेश अस्थाना करेंगे अगस्ता वेस्टलैंड और विजय माल्या मामलों की जांच


नई दिल्ली। CBI ने अगुस्ता वेस्टलैंड वीवीआईपी हेलीकॉप्टर खरीद में घूसखोरी सहित अन्य महत्वपूर्ण मामलों की जांच में तेजी लाने के लिए गुजरात के IPS अधिकारी राकेश अस्थाना के नेतृत्व में SIT का गठन किया है। इसके अलावा यह टीम 9000 करोड़ रुपये के बैंक लोन लेकर देश छोड़कर जाने वाले विजय माल्या के मामले की भी जांच करेगी।

अगुस्ता वेस्टलैंड हेलीकॉप्टर घूसकांड में सीबीआई ने आईडीएस इंडिया के प्रमुख प्रताप अग्रवाल और ऐरोमैट्रिक्स के सीईओ प्रवीण बख्शी से पूछताछ की है। अग्रवाल से जांच अधिकारियों ने यह जानने का प्रयास किया कि उसने किस तरह से घूस की रकम को और किन कंपनियों की मदद से इधर उधर किया।

इसके अलावा अब तक की पूछताछ में पूर्व वायुसेना प्रमुख एसपी त्यागी के बैंक खातों में विदेश से लेन-देन की बात सामने आई है। यह लेन-देन वर्ष 2009 में हुआ। गौतम खेतान पूछताछ में यह कह चुके हैं कि उन्होंने अग्रवाल की कंपनी आईडीएस इंडिया के लिए आईडीएस ट्यूनेशिया को खड़ा करने में सहयोग दिया है।

इससे जुड़े दस्तावेज वह सीबीआई को सौंप चुके हैं। एसपी त्यागी पहले ही यह स्वीकार कर चुके हैं कि उनका संदीप त्यागी उर्फ जूली त्यागी से वित्तीय संबंध है।

वहीं विजय माल्या के मामले में जांच एजेंसियां ये जानने की कोशिश में हैं कि माल्या का अकाउंट एनपीए घोषित होने के बावजूद उसे इतनी बड़ी राशि कैसे दे दी गई।

इसके अलावा माल्या को भारत भेजने से ब्रिटेन के इंकार के बीच वित्त मंत्री अरुण जेटली ने कहा था कि जांच एजेंसियां उन्हें वापस लाने के लिए हर तरह का कदम उठाएंगी। उसके प्रत्यर्पण पर भी विचार किया जा रहा है। माल्या मनी लांड्रिंग सहित बैंकों के 9,400 करोड़ रुपये के ऋण की वसूली से जुड़े मामलों का सामना कर रहे हैं।