सीसीटीवी फुटेज पर भिड़ी ‘आप’ और दिल्ली पुलिस


नई दिल्ली। दिल्लीr उच्च न्यायालय ने कहा है कि शहर में लगे सीसीटीवी कैमरों की लाइव फीड पुलिस के पास जानी चाहिए। न्यायमूर्ति बदर दुरेज अहमद और न्यायमूर्ति संजीव सचदेवा की पीठ ने दिल्लीr सरकार और पुलिस के बीच सीसीटीवी फीड साझा करने को लेकर असहमति के बाद कहा कि अगर आप कुछ होते हुए देखते हैं तो प्रतिक्रिया कौन देगा, दिल्लीr पुलिस या विधायक,
अदालत ने कहा कि दिल्लीr पुलिस को सीधे फीड मिलनी चाहिए क्योंकि वह वास्तविक समय निगरानी करेगी। पुलिस ने कहा कि पुलिसिंग उसका काम है और सीसीटीवी लगाने का प्रस्ताव उसके क्षेत्राधिकार में अतिक्रमण का प्रयास है। पुलिस ने दिल्लीr सरकार के साथ कैमरों की फीड साझा करने से भी इंकार कर दिया। पीठ ने कहा कि सीसीटीवी लगाने का उददेश्य सुरक्षा मजबूत करना है। उच्च न्यायालय ने कहा कि वह सुनवाई की अगली तारीख १७ फरवरी को सीसीटीवी लगाने के संबंध में दिल्लीr सरकार और पुलिस के प्रस्तावों पर चर्चा करेगी।