सरकार गठन पर भाजपा से गठबंधन को तत्पर एनसीः फारुख


०८७ सदस्यीय कश्मीर विस में भाजपा के २५ व नैशनल कांप्रेंâस के १४ विधायक
जम्मू। पीडीपी-भाजपा गठबंधन के जारी रहने पर अनिाqश्चतता बने रहने के बीच नैशनल कांप्रेंâस (एनसी) के नेता फारुक अब्दुल्ला ने कहा कि यदि पेशकश की जाए तो उनकी पार्टी सरकार बनाने के लिए भाजपा से गठबंधन पर विचार करने के लिए तैयार है। पत्रकारों द्वारा पूर्व मुख्यमंत्री से गठबंधन सरकार की कड़ी में भाजपा की ओर से प्रस्ताव आने के बारे में पूछे गये सवाल पर फारूक ने बताया, कि यदि ऐसा प्रस्ताव आता है तो नेशनल कांप्रेंâस कार्य-समिति (की बैठक) बुलाएगी और इस पर चर्चा करेगी। क्योंकि इसके लिए हमारे दरवाजे खुले हैं। राज्य में अभी राष्ट्रपति शासन लागू है। जम्मू-कश्मीर की ८७ सदस्यीय विधानसभा में भाजपा के २५ जबकि नैशनल कांप्रेंâस के १४ विधायक हैं। फारूक ने ऐसे समय में यह बयान दिया है जब पीडीपी-भाजपा गठबंधन के भविष्य को लेकर अनिाqश्चतता की ाqस्थति बनी हुई है। बीते सात जनवरी को मुख्यमंत्री मुफ्ती मोहम्मद सईद के अचानक हुए निधन से पहले यह गठबंधन राज्य में १० महीने सरकार चला चुका है।
नैशनल कांप्रेंâस के संरक्षक और पूर्व वेंâद्रीय मंत्री फारूक ने जम्मू-कश्मीर में जारी राजनीतिक अनिाqश्चतता के लिए २७ विधायकों वाली पीडीपी को जिम्मेदार ठहराया। फारूक ने कहा, कि पीडीपी ने अनिाqश्चतता पैदा की है क्योंकि भाजपा सरकार बनाने के लिए तैयार है। खुदा जाने पीडीपी क्या सोच रही है। मैं उम्मीद करता हूं कि वे इसे खत्म करें और सरकार चलने लगे। फारूक ने कहा कि नेशनल कांप्रेंंâस कभी अपनी भूमिका से पीछे नहीं हटती। गौरतलब है कि नेशनल कांप्रेंंâस पहले भी राजग का हिस्सा रह चुकी है। पूर्व मुख्यमंत्री ने कहा कि १९९६ में जब कोई चुनाव के लिए तैयार नहीं था, उस वक्त हम आगे आए। फारूक ने कहा कि दोनों र्पािटयों के बीच गठबंधन सईद ने कराया था और अब उनकी बेटी और पीडीपी प्रमुख महबूबा मुफ्ती की जिम्मेदारी है कि वह इस दोस्ती को आगे बढ़ाए। उन्होंने कहा, लेकिन हमें पहले देखना होगा कि यह दोस्ती आगे बढनी चाहिए। उन्होंने कहा कि राज्य में राजनीतिक अनिाqश्चतता को जल्द से जल्द खत्म करने के लिए पीडीपी और भाजपा को सरकार बनानी चाहिए।