सरकारी बाबुओं के स्मार्टफोन पर बात करने पर लगी रोक


नई दिल्ली । सरकारी कामकाज में सुरक्षा को लेकर सजग सरकार की तरफ से सभी केन्द्रीय मंत्रालयों में काम कर रहे सरकारी बाबुओं को स्मार्ट फोन पर ऑफिस से संबंधित कामों को लेकर कम से कम बात करने के निर्देश दिए हैं। ऐसा सरकार की तरफ से हैिंकग, डाटा की चोरी और संचार व्यवस्था में कमियों के चलते ऐसा कहा गया है।निर्देश में कहा गया है कि जब तक कोई अति आवश्यक ना हो ऑफिस से संबंधित बातें फोन पर करने से परहेज करें।
साइबर सुरक्षा को लेकर हुए दो दिवसीय सत्र के दौरान केन्द्रीय गृहमंत्रालय और सेंट्रल पारामिलिट्री अधिकारियों से कहा गया कि अधिकतर मामलों में वो सामने बैठकर बात करने या फिर लैंडलाइन को ही तरजीह दे।
अधिकारियों को ये बताया गया कि स्मार्टफोन में कुछ एप्लीकेशन को डाउनलोड करने के बाद उसकी जासूसी की जा सकती है। ऐसे में ऑफिस के कामों के लिए, खासकर संवेदनशील मामलों में स्मार्टफोन के इस्तेमाल से पूरी तरह बचने की कोशिश करे।
ऐसा निर्देश सिर्पâ गृह मंत्रालय को ही नहीं बाqल्क रक्षा मंत्रालय, विदेश मंत्रालय और दूसरे संवेदनशील मंत्रालयों को भी दिए गए हैं। एक अधिकारी ने बताया कि बड़े पैमाने पर इस गृह मंत्रालय और रक्षा मंत्रालय में लागू करने को कहा गया है क्योंकि यहां पर नियमित तौर पर होनेवाला काम राष्ट्रीय सुरक्षा से जुड़ा हुआ होता है। लेकिन, संवेदनशील मामलों में स्मार्टफोन के इस्तेमाल ना करने के निर्देश सभी मंत्रालयों पर लागू रहेगा।
हैिंकग साइबर सुरक्षा के लिए सबसे बड़ा खतरा है। ऐसे कई मामले आए हैं जिसमें पाकिस्तानी और चीन के हैकरों ने भारत सरकार के वेबसाइटों को हैक कर और आधिकारिक डेटा हासिल कर लिया है। अंतर्राष्ट्रीय स्तर पर देखें तो अधिकतर हैकर चीन, रुस, अमेरिका, इरान, इजराय और उत्तरी कोरिया के होते हैं।
भारत को सबसे बड़ा साइबर सिक्योरिटी का ़खतरा चीन के हैकरों से है जिसके निशाने पर लगातार सरकार ऑफिस, निजी उद्यमियों और सैन्य स्वूâलों में दाखिले की सूची होती है।
मोदी सरकार की महत्वाकांक्षी योजना डिजिटल इंडिया के चलते हैिंकग और डाटा चोरी को अब मोदी सरकार में काफी गंभीरता से लिया जा रहा है क्योंकि ज्यादातर सरकारी सेवाओं और लेनदेन अब ऑनलाइन हो जाएंगी।सरकारी ऑफिसों में स्मार्टफोन के इस्तेमाल पर चौकसी को लेकर दिए गए ता़जा निर्देश में वहां के कर्मचारियों से कहा गया है कि वो अपने स्मार्टफोन को ऑफिस के वंâप्यूटर में भी ना लगाएं और ना ही उसमें लगाकर फोन को चार्ज करें।