समय के साथ बदलना चाहिये परंपरायें : श्री श्री रविशंकर


०महिलाओं द्वारा शनि मंदिर पूजन के समर्थन में उतरे वेंâद्रीय मंत्री
नईदिल्ली। अहमदनगर शनि मंदिर में महिलाओं द्वारा तेल चढ़ाने के समर्थन में केन्द्रीय मंत्री श्री श्री रविशंकर ने कहा कि वक्त के साथ परंपराएं बदलनी चाहिए। उन्होंने कहा, वक्त के साथ परंपरा बदलनी चाहिए।टीवी कार्यक्रम लेफ्ट राइट सेंटर में उन्होंने कहा,कि मुझे खुशी है कि महिलाएं इसके लिए सामने आ रही हैं। ईसाई, हिन्दू, मुाqस्लम सभी धर्मों में महिला पुजारी होनी चाहिए। यही नहीं हिन्दुओं में महिला पुजारी हैं। अगर आज आप इंडोनेशिया जाएंगे, जहां हिन्दुवाद की पुरानी परंपरा है, वहां हिन्दू महिला पुजारी हैं। उनके पास सामान अधिकार हैं। महिला और पुरुष में कोई अंतर नहीं और अगर ये कहीं है तो इसे देखना चाहिए।जब भी जरूरी हो, हर परंपरा में सुधार और बदलाव होते हैं,। अगर वह वैज्ञानिक न हो तो ऐसी मान्यताओं को जारी रखने का कोई औचित्य नहीं है।
वहीं शनि को सर्मिपत मंदिर में महिलाओं के प्रवेश से जुड़े मुद्दे के आपसी सहमति से हल निकालने के लिए प्रयास तेज हो गए हैं। शनि मंदिर में तेल चढ़ाने से रोके जाने से नारा़ज महिला ब्रिगेड की नेता तृाqप्त देसाई बुधवार दोपहर राज्य के मुख्यमंत्री देवेंद्र फडणवीस से मुलाकात कर अपनी बातें मुख्यमंत्री के सामने रखी। इस बीच महाराष्ट्र बीजेपी ने कहा है कि इस मामले को बातचीत से हल किया जाना चाहिए और अगर इसमें कामयाबी नहीं मिलती है तभी सरकार दखल देगी। इससे पहले बुधवार को इस ब्रिगेड की लगभग ४०० महिलाओं को शनि मंदिर में घुसने से रोक लिया गया। इन महिला कार्यकर्ताओं की योजना मंदिर के सबसे भीतरी हिस्से में जबरदस्ती प्रवेश करने की थी।