श्री श्री के कार्यक्रम पर ना हो राजनीति- केन्द्रीय मंत्री वैंकेया


नई दिल्ली। केंद्रीय मंत्री एम.वैंकेया नायडू ने आर्ट ऑफ लिविंग द्वारा यमुना किनारे उसके डूब क्षेत्र पर आयोजित किए जा रहे विश्व सांस्कृतिक महोत्सव का समर्थन किया और इस आयोजन से जुड़े विवादों को खारिज करते हुए कहा कि इसका राजनीतिकरण नहीं किया जाना चाहिए। ट्वीट के जरिए नायडू ने कहा कि यह कार्यक्रम सांस्कृतिक विविधताओं का उत्सव है और यह भारत को प्रसिद्धि दिलाएगा। उन्होंने सेना द्वारा पीपे के पुल बनाए जाने को लेकर की जा रही आलोचना पर भी सवाल उठाते हुए कहा कि पिछली सरकारों के दौरान ऐसे कई उदाहरण है जब कुंभ जैसे भारी जनसम्मेलन वाले आयोजनों में सेना की मदद ली गई। नायडू ने ट्वीट किया कि सेना द्वारा पीपे के पुल बनाए जाने को लेकर अनावश्यक विवाद पैदा किया जा रहा है। कुंभ मेला, नासिक में संक्रांति जैसे कई उदाहरण हैं जैसे जहां सेना ने ऐसा ही कार्य किया है। उन्होंने कहा कि इसमें एक ही कार्यक्रम में ३६,००० कलाकार प्रस्तुति दे रहे हैं और यह अपने आप में एक रिकॉर्ड है। उन्होंने ट्वीट किया कि यह विविधताओं का उत्सव मनाने वाला एक सांस्कृतिक कार्यक्रम है। आईए उत्सव मनाएं और इस महोत्सव में शामिल हों। एक अन्य ट्वीट में उन्होंने कहा कि आर्ट ऑफ लिविंग द्वारा आयोजित विश्व सांस्कृतिक महोत्सव भारत को प्रसिद्धि दिलाएगा। इसका राजनीतिकरण नहीं करना चाहिए।