शेयर बाजार में निराशा, बिकवाली के दबाव में बाजार में मंदी


मुुंबई। वेंâद्रीय वित्त मंत्री अरुण जेटली द्वारा आज लोकसभा में वर्ष २०१६-१७ का बजट प्रस्ताव पेश किया। बजट प्रस्ताव से शेयर बाजार में निराशा देखी गई। आयकर सीमा नहीं बढ़ाने तथा उद्योग क्षेत्रों को विशेष राहत की घोषणा नहीं होने से निवेशकों में निराशा छा गई।
मुंबई स्टाक एक्सचेंज तथा नेशनल स्टाक एक्सचेंज में बजट की प्रतिक्रिया स्वरुप निराशा का स्थान बिकवाली ने ले लिया। दोपहर ११.४५ बजे तक मुंबई स्टाक एक्सचेंज ११३ अंकों की गिरावट के साथ २३०९२ तथा नेशनल स्टाक एक्सचेंज २० अंकों की गिरावट के साथ ७००९ पर कारोबार कर रहा था। आर्थिक विशेषज्ञों के अनुसार वेंâद्र सरकार के बजट प्रावधान से उद्योग जगत निराश हुआ है। इस स्थिति में शेयर बाजार की गिरावट रोक पाना संभव नहीं होगा। एशियाई बाजारों में भी मिश्रित रुख बना हुआ है। रुपये की तुलना में डालर में मजबूती आई है। सोने के भाव में जरूर तेजी देखी जा रही है।