शीला दीक्षित को गिरफ्तार करवाएं या मूंछ मुंडवा लें विजेंद्र गुप्ता


दिल्ली सरकार ने 2013 में हुए जल बोर्ड में 400 करोड़ रुपए के टैंकर घोटाले में जांच रिपोर्ट एलजी नजीब जंग को भेजकर पूर्व मुख्यमंत्री शीला दीक्षित की मुश्किलें बढ़ा दी हैं । जांच रिपोर्ट में एसीबी और सीबीआई से पूर्व मुख्यमंत्री शीला दीक्षित और अन्य आरोपियों पर एफआईआर करके जांच करने को कहा गया है।

इसके साथ ही साथ केजरीवाल सरकार ने घोटाले को लेकर सड़कों पर उतरी भारतीय जनता पार्टी को एक बड़ी चुनौती दी है और कहा है कि वो इस मामले में दो माह के भीतर शीला दीक्षित को गिरफ्तार करवाए वर्ना विजेंदर गुप्ता इस्तीफा देकर अपनी मूंछ कटा लें। दिल्ली विधानसभा के विशेष सत्र के तीसरे दिन अरविंद केजरीवाल ने कहा कि नेता प्रतिपक्ष विजेंद्र गुप्ता के बेंच पर चढ़ने से सरकार डर गई।  इस बात का विजेंद्र जी को क्रेडिट जाता है कि आज जल आपूर्ति मंत्री कपिल मिश्रा ने टैंकर घोटाले की जांच रिपोर्ट सीबीआई और एसीबी को सौंप दी है। केजरीवाल ने कहा कि अब अगर शीला दीक्षित गिरफ्तार नहीं हुईं तो नेता प्रतिपक्ष विजेंद्र गुप्ता अपनी मूंछ कटा लेंगे और खुद इस्तीफा देकर मोदी जी से भी इस्तीफा मांगेंगे।