वेटिकन में मंदिर बनाने संबंधी विहिप के बयान पर लोकसभा में भारी हंगामा


०लोकसभा अध्यक्ष के आसन के पास आकर कांग्रेस सदस्यों ने की नारेबाजी
नई दिल्ली। सोमवार को जासूसी कांड पर हंगामा मचाने वाली कांग्रेस ने लोकसभा में मंगलवार को भी अपना वहीं रुख बनाए रखा। हालांकि आज विषय अलग था। कांग्रेस सदस्यों ने आज विश्व हिन्दू परिषद् के उस बयान पर हंगामा किया जिसमें सवाल किया गया है कि क्या वेटिकन में हनुमान मंदिर बनाया जा सकता है? कांग्रेस के सदस्य इस विषय पर कार्य स्थगित कर चर्चा कराने मांग करते हुए अध्यक्ष के आसन के समीप आकर नारेबाजी करने लगे। हालांकि अध्यक्ष सुमित्रा महाजन ने सदस्यों से इसे शून्य काल में उठाने को कहा। आज सुबह सदन की कार्यवाही शुरू होने पर स्पीकर ने कहा कि उन्हें गौरव गोगोई, माqल्लकार्जुन खडगे, सुाqष्मता देव, केसी वेणुगोपाल एवं अन्य के कई विषयों पर कार्य स्थगन प्रस्ताव के नोटिस मिले हैं। उन्होंने इन्हें स्वीकार नहीं करते हुए कहा वह इन विषयों को बाद में शून्यकाल में उठाने का मौका देंगी। कांग्रेस के सदस्य हालांकि इससे संतुष्ट नहीं हुए और अध्यक्ष के आसन के पास आकर नारेबाजी करने लगे। इस दौरान अध्यक्ष ने प्रश्नकाल की कार्यवाही शुरू करने का निर्देश दिया।
उल्लेखनीय है कि हरियाणा के हिसार में एक निर्माणाधीन चर्च को कथित रूप से क्षतिग्रस्त किए जाने सबंधी मीडिया की खबरों के पृष्ठभूमि में विहिप ने कहा है कि क्या वेटिकन में कोई हनुमान मंदिर बना सकता है। क्या वहां हनुमान मंदिर स्थापित करने की अनुमति दी जायेगी? अध्यक्ष ने सदस्यों से सदन में व्यवस्था बनाने का आग्रह किया। कांग्रेस नेता माqल्लकार्जुन खडगे ने कहा कि यह देश से जुड़ा काफी महत्वपूर्ण सवाल है। कानून एवं व्यवस्था की ाqस्थति का सवाल है। अध्यक्ष सुमित्रा महाजन ने कहा कि रोज –रोज कुछ न कुछ विषय को लाकर इस तरह से कार्य स्थगन प्रस्ताव के नोटिस लाना ठीक नहीं है। उन्होंने कहा, `मैं आपको १२ बजे इसे उठाने की अनुमति दूंगी। विषय महत्वपूर्ण हैं, तब उसे जरूर उठायें। लेकिन उचित समय पर उठायें।’
स्पीकर ने कहा, खडगेजी मेरी बात सुनें, मैं हमेशा तो गलत नहीं हो सकती हूं। कांग्रेस नेता ने कहा, सत्ता पक्ष के साथ इतना सहयोग करने के बाद भी नायडू साहब (वेंवैâया नायडू) हमेशा हमारे ऊपर इल्जाम लगाते हैं। यह ठीक नहीं है। आप कह रही हैं, इसलिए हम बैठ जाते हैं। इससे पहले कांग्रेस सदस्यों ने अध्यक्ष के आसन के समीप आकर ‘लोकतंत्र पर हमला, नहीं चलेगा, धर्म की राजनीति नहीं चलेगी, प्रधानमंत्री कहां गए’ आदि नारे लगाए। भाजपा के कुछ सदस्यों को जवाब में यह कहते सुना गया कि आपके नेता (राहुल) कहां गए?

 

क्या वेटिकन सिटी में हनुमान मंदिर बनाने की अनुमति देगा ईसाई समुदाय : विहिप
नई दिल्ली। हरियाणा के हिसार में चर्च पर हमले और तोड़फोड़ का विश्व हिन्दू परिषद् ने बचाव किया और १८५७ की क्रांति को भी साम्प्रदायिक युद्ध बताया। विहिप ने कहाकि क्या ईसाई समुदाय वेटिकन सिटी में हनुमान मंदिर बनाने की अनुमति देगा। विहिप के संयुक्त महासचिव सुरेन्द्र जैन ने कहाकि उस गांव में और आसपास कोई ईसाई नहीं रह रहा था तो वहां पर चर्च क्यों बनाया जा रहा था। अगर ईसाई हमें वेटिकन में हनुमान मंदिर बनाने देते हैं तो हम उन्हें भारत में कहीं भी चर्च बनाने के लिए जगह दे देंगे। हम इसके लिए पैसे भी देंगे। जैन ने कहा कि १८५७ की क्रांति धर्म के लिए साम्प्रदायिक लड़ाई थी और यदि ईसाइयों ने धर्म परिवर्तन नहीं छोड़ा तो इसे फिर से छेड़ा जाएगा। उन्होंने पश्चिम बंगाल के नादिया जिले में बुजुर्ग नन से गैंगरेप के मामले पर सवाल उठाया और कहाकि यह चर्च की साजिश है। उन्होंने कहाकि नन का यौन शोषण करना ईसाई कल्चर है न कि हिंदुओं का। ननों से दुष्कर्म को लेकर पोप इतने चिंतित है कि वे समलैंगिक रिश्तों को बढ़ावा दे रहे हैं। उन्होने चर्च का इस्तेमाल धर्मातरण के लिए किया जाता है। यह वही देश है जहां धर्म के लिए १८५७ की लड़ाई लड़ी गई थी। धर्मातरण के खिलाफ आवाज उठाएंगे। हिसार वाले मामले में भी लोगों ने विरोध किया था लेकिन जब उनकी बात पर ध्यान नहीं दिया गया तो उन्होंने वह किया जो उन्हें ठीक लगा।