विवादित ढांचा ढहाने में पूर्व पीएम नरसिम्हाराव की अहम भूमिका :हाशिम


लखनऊ। अयोध्या के विवादित ढांचा ढहाने को लेकर मामले के मुख्य मुद्दई हाशिम अंसारी ने कहा है कि ढांचा विध्वंस में पूर्व प्रधानमंत्री स्वर्गीय पीवी नरसिम्हा राव जिम्मेदार हैं। उन्होंने पूछा कि क्या अब कोर्ट मेरे मरने के बाद इस मामले में पैâसला देगा। उन्होंने कहा कि कांग्रेस के दिवंगत नेता और पूर्व प्रधानमंत्री पीवी नरसिम्हा राव को पहले से इस मामले की जानकारी थी, फिर भी कोई कदम नहीं उठाए गए। उन्होंने कहा मामले में उनकी मुख्य भूमिका थी, इसके बाद भी वह विवादित ढांचा गिराने के मुकदमे में मुलजिम नहीं बने। घटना के बाद नरसिम्हा राव ने माqस्जद को दोबारा बनवाने को कहा था, लेकिन मस्जिद न बनवाकर उन्होंने देश के मुसलमानों के साथ धोखा किया । हाशिम अंसारी ने भारतीय जनता पार्टी पर आरोप लगाते हुए कहा कि भाजपा और कांग्रेस अयोध्या में राम जन्मभूमि और बाबरी माqस्जद के नाम पर सिर्पâ नेतागीरी करते हैं। अगर कुछ कराना है तो इस विवाद का पैâसला क्यों नहीं कराते हैं। एक ओर रायबरेली की विशेष अदालत में माqस्जद शहीद करने वालों के विरुद्ध मुकदमा तो चल रहा है पर २३ वर्ष बाद भी किसी आरोपी का बाल भी बांका नहीं हुआ। कांग्रेस सहित बीजेपी के प्रति आज काफी हमलावर हाशिम का ताजा रुख बीते हफ्ते सपा आलाकमान के दूत के रूप में आए प्रदेश के श्रम मंत्री शाहिद मंजूर से हाशिम की भेंट से जोड़कर देखा जा रहा है। यह सही है कि बाबरी माqस्जद के बुजुर्ग मुद्दई कांग्रेस के प्रति शुरू से ही हमलावर रहे हैं पर दिवंगत प्रधानमंत्री पीवी नरसिम्हा राव का नाम लेकर उन्होंने कांग्रेस पर जिस तरह का खुला हमला बोला, वह उनके पहले के रुख से काफी अलग है। श्रम मंत्री से भेंट के पहले हाशिम अंसारी विवादित ढांचा विवाद से जुड़ी सियासत के क्रम में समाजवादी पार्टी पर भी निगाह तिरछी करने से नहीं चूकते थे पर ताजा बयान में उन्होंने सपा का नाम लिए बगैर कांग्रेस और बीजेपी पर खुलकर हमला बोला।