विजय माल्या के लोन ‘गारंटर’ किसान मनमोहन सिंह का बैंक खाता सील


पीलीभीत : बैंकिंग सेक्टर में किस तरह के गोरखधंधे होते हैं, इसका एक नायाब उदाहरण लोन डिफॉल्टर उद्योगपति विजय माल्या व उनके कथित लोन गारंटर किसान मनमोहन सिंह हैं. विजय माल्या की किंगफिशर कंपनी का लोन गारंटर एक किसान मनमोहन सिंह हैं, जिन्हें यह तक नहीं पता कि आखिर किंगफिशर चीज क्या है? उत्तरप्रदेश के पीलीभीत जिले के खजूरिया के रहने वाले इस किसान मनमोहन सिंह के लिए विजय माल्या का लोन डिफॉल्टर बन जाना बड़ा सरदर्द भी है. विजय माल्या की करनी का फल अब उन्हें भुगतना पड़ रहा है. किसान मनमोहन सिंह के विजय माल्या के लोन का गारंटर होने की बात सामने आने पर किसान के दोनों बैंक खाते सीज कर लिये गये. ये दोनों खाते बैंक बैंक ऑफ बड़ौदा के हैं और इनमें एक खाते में 12 हजार रुपये और दूसरे खाते में चार हजार रुपये हैं.

माल्या को नहीं जानते हैं मनमोहन सिंह
किसान मनमोहन सिंह का कहना है कि वे विजय माल्या को नहीं जानते हैं और आज तक कभी उनसे नहीं मिले. किसान के अनुसार, उनका कोई संपर्क भी विजय माल्या से नहीं हैं. वे कहते हैं कि कहा जा रहा है कि मैंने किंगफिशर की गारंटी ले रखी है. मैंने तो आज तक माल्या को देखा ही नहीं है. मैं तो कभी मुंबई भी नहीं गया.


सीज किये गये खाते

पीलीभीत की नाद शाखा के बैंक मैनेजर के अनुसार, किसान मनमोहन सिंह के दोनों खाते मुंबई स्थित बैंक ऑफ बड़ौदा के रीजनल ऑफिस के निर्देश पर सीज किये गये हैं. किसान इस बात से बेहद आहत और परेशान हैं.