वाशिंगटन में हो सकती है मोदी-शरीफ की मुलाकात


नई दिल्ली। अमेरिकी राष्ट्रपति बराक ओबामा के आमंत्रण पर अगले माह वाशिंगटन पहुंच रहे प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी और पाकिस्तानी प्रधानमंत्री नवाज शरीफ की मुलाकात हो सकती है। गौरतलब है कि राष्ट्रपति ओबामा के न्यौते को प्रधानमंत्री द्वय ने स्वीकार कर लिया है इसलिए विदेश मामलों के जानकारों का कयास है कि बहुत जल्द दोनों की मुलाकात हो सकती है। पाकिस्तानी मीडिया में इस मुलाकात को लेकर अलग-अलग दावे भी किए गए हैं। जानकारी अनुसार राष्ट्रपति ओबामा ने इन्हें न्यूाqक्लयर समिट में शामिल होने के लिए बुलाया है। यह सम्मेलन ३१ मार्च और १ अप्रैल को होने जा रहा है। दोनों देशों के बीच के संबंधों और विभिन्न स्तरों की बैठकों के रद्द होने के इतिहास को देखते हुए दावे करने वाले भी अंतिम लाइन यही कहते देखे जा रहे हैं कि जब बैठक और मुलाकात हो जाए तभी समझिए कि दोनों देशों के प्रधानमंत्री मिले हैं। फिलहाल इसे कयास ही समझा जाना चाहिए। यह अलग बात है कि अमेरिका में होने वाली न्यूाqक्लयर समिट में भारत और पाकिस्तान के प्रधानमंत्री पहली बार शामिल होने जा रहे हैं। परमाणु हथियारों को आतंकियों के हाथों में जाने से रोकने के लिए ओबामा ने २०१० में इस समिट की शुरुआत की थी। इसका पहला सम्मिट वािंशगटन में १२-१३ अप्रैल २०१० को हुआ था। दूसरा सम्मेलन दक्षिण कोरिया की राजधानी सिओल में २०१२ में हुआ और तीसरा २०१४ में हेग में हुआ। चूंकि यह राष्ट्रपति ओबामा के कार्यकाल का आखिरी साल है, इसलिए ओबामा प्रशासन ने पूरी ताकत झोंक दी है कि इसके कुछ ठोस नतीजे सामने लाए जा सवेंâ। इसलिए भी दुनिया की निगाहें इस सम्मिट में लगी हुई हैं।