वाराणसी हेरिटेज सिटी का दर्जा पाने से वंचित


० वाराणसी २० से भी ज्यादा हेरिटेज साइट्स के लिए प्रसिद्ध
० भारत द्वारा भेजी ४६ साइटों में मात्र बौद्ध साइट सारनाथ का जिक्र
० नई दिल्ली फाइनल स्टेज में जगह बनाने में कामयाब
नई दिल्ली। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी का चुनाव क्षेत्र वाराणसी एक बार फिर यूनेस्को की समृद्ध विरासत वाले शहरों की लिस्ट में शामिल होने से चूक गया है। संस्कृति मंत्रालय के अधिकारियों के मुताबिक, वाराणसी उन शहरों की लिस्ट में भी शामिल नहीं हो सका है, जिन्हें इस साल यूनेस्को के हेरिटेज शहरों के लिए नॉमिनेट किया जा सकता है। मंत्रालय के वरिष्ठ अधिकारी का कहना है कि हम एक साल में सिर्पâ एक शहर की सिफारिश कर सकते हैं। इस संभावित लिस्ट में पहले से ४० शहर हैं। वाराणसी इनमें नहीं है। यूपी सरकार की तरफ से भेजे गए दस्तावेज में शहर के कई पहलुओं के बारे में विस्तार से जानकारी नहीं दी गई। उन्होंने कहा कि एक्सपर्ट कमिटी लिस्ट फाइनल करने के लिए नॉमिनेट किए गए शहरों से जुड़े दस्तावेजों की स्टडी करती है, जिसके बाद देश को नॉमिनेशन भेजने को कहा जाता है। सूत्रों के मुताबिक, देश से एकमात्र शहर नई दि¼ी इस साल फाइनल स्टेज में जगह बनाने में कामयाब रही है। संयुक्त राष्ट्र का संगठन यूनेस्को अगले कुछ दिनों में इस साल के लिए नॉमिनेट किए गए हेरिटेज शहरों पर अपनी सिफारिशों का ऐलान कर सकता है।
उत्तरप्रदेश सरकार के अधिकारियों का कहना है कि वे इस मामले को देख रहे हैं। इस मामले में राज्य सरकार को भेजी गई ईमेल का कोई जवाब नहीं मिला, जबकि आजम खान की अगुवाई वाले राज्य शहरी विकास मंत्रालय के एक अधिकारी ने बताया कि वाराणसी की धरोहर के संरक्षण का काम पर्यटन, संस्कृति, आवास और शहरी विकास जैसे मंत्रालयों के जरिये हो रहा है, लिहाजा इस बात को लेकर असमंजस पैदा हो गया कि वेंâद्र सरकार को सौंपे जाने वाले दस्तावेज का काम कौन सा मंत्रालय देख रहा था। बनारस िंहदू यूनिर्विसटी में कल्चरल ज्यॉग्रफी ऐंड हेरिटेज स्टडीज के प्रोपेâसर राणा पी बी िंसह ने बताया, ‘अगर पूरा शहर नहीं, तो कम से कम वाराणसी का पुराना शहर और नदी के किनारे के घाट यूनेस्को की कल्चरल हेरिटेज शर्तों को पूरा करते हैं। कम से कम गंगा के किनारे ६.८ किलोमीटर में पैâले ८० घाटों को वल्र्ड हेरिटेज साइट में शामिल करने की कोशिश होनी चाहिए। िंसह वाराणसी की धरोहर के संरक्षण की योजना से जुड़ी सेंट्रल कमिटी के मेंबर भी हैं। हाल में भारत ने यूनेस्को की वल्र्ड हेरिटेज साइट की लिस्ट के लिए ४६ मशहूर साइट्स की रिवाइज्ड लिस्ट सौंपी थी। इस लिस्ट में वाराणसी से जुड़ी बौद्ध साइट सारनाथ का ही जिक्र है, जबकि यह शहर २० से भी ज्यादा हेरिटेज साइट्स के लिए जाना जाता है। हेरिटेज एक्सपट्र्स का कहना है कि वाराणसी को हेरिटेज शहरों की लिस्ट में शामिल करने की कोशिश १९९३ से जारी है।