वडोदरा में डिमोलिशन के दौरान बवाल, पुलिस चौकी और बस जलाए : सूरत में वृद्ध की मौत


वडोदरा। शहर के अंति संवेदनशील क्षेत्र पानीगेट के पास स्थित सुलेमानी चाल में मंगलवार को सुबह वडोदरा महानगरपालिका, शहर पुलिस, फायर विभाग के संयुक्त ऑपरेशन में डिमोलिशन किया जा रहा था। डिमोलिशन कर रहे कर्मचारियों पर स्थानीय निवासियों द्वारा पथराव शुरु कर दिया गया। सुलेमानी चाल के पास पुलिस चौकी, एसआरपी टेंट, वीटकोस की बस तथा 10 टू व्हीलरों में आग लगा दी गयी। हालांकि कड़ी पुलिस सुरक्षा के बीच 300 मकानों को तोड़कर डिमोलिशन प्रक्रिया को पूरा किया गया। डिमोलिशन के बाद विद्युत कंपनी द्वारा बिजली कनेक्शन काट दिया गया। सुलेमानी सहित आसपास के क्षेत्रों में स्थिति नियंत्रित किंतु तनावपूर्ण बतायी जाती है।

सूरत में डिमोलिशन के दौरान एक की मौत, डिमोलिशन स्थल से भागे अधिकारी
सरथााणा में डिमोलिशन करने गयी पालिका की टीम के एक अधिकारी ने गन्ने की लारी चलाने वाले वृद्ध को धक्का मार दिया। धक्का मारने से अधेड़ की मौत हो गयी। वृद्ध की मौत होने से इलाके में सनसनी फैल गयी। वृद्ध की मृत्यु के बाद पालिका के कर्मचारी स्थल से भाग खड़े हुए। पुलिस लाश को कब्जे में लेकर आगे की जांच शुरु कर दी है।
जानकारी के अनुसार वराछा जोन की टीम आज मंगलवार को सरथाणा चार रास्ता के पास डिमोलिशन करने गयी थी। रमेश जीवराज लिंबडिया नामक व्यक्ति वहीं गन्ने की लारी चलाता था। पालिका के अधिकारी आते ही गन्ने की लारी चलाने वाले रमेश लिंबडिया को डांटने लगे। देखते ही देखते एक अधिकारी ने रमेश को जोर से धक्का मार दिया रमेश सिर के बल जोर से सड़क पर गिर गया और स्थल पर ही उसकी मौत हो गयी। रमेश लिंबडिया की मौत होते ही पालिका की टीम स्थल से भाग खड़ी हुई। पालिका अधिकारियों के दबंगई से स्थानीय लोगों में रोष फैला हुआ है। स्थिति को देखते हुए पुलिस सुरक्षा तैनात कर दी गयी है। घटना की जानकारी मिलते ही एसीपी सहित उच्च पुलिस अधिकारी स्थल पर पहुंच गए। कांग्रेस प्रमुख हसमुख देसाई, पालिका के विपक्षी नेता प्रफुल्ल तोगडिया, नगर सेवक अशोक जीरावाला स्थल पर पहुंचकर लोगों को समझाने का प्रयास किया।