रेल बजट पर पीएम मोदी ने जताई खुशी बोले, प्रभु ने लगाई लंबी जंप


नई दिल्ली। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने सुरेश प्रभु के रेल बजट की जमकर तारीफ की। प्रभु के भाषण की समाप्ति पर प्रधानमंत्री अपनी सीट से उठकर रेल मंत्री की सीट के पास गए और हाथ मिलाकर उन्हें बधाई दी। प्रधानमंत्री मोदी ने कहा कि इस रेल बजट का देश की अर्थव्यवस्था पर दूरगामी असर होगा।रेल बजट २०१६: नहीं बढ़ा यात्री किराया, २०२० तक सबको कन्फर्म टिकट, ३३ज्ञ् सीटें महिलाओं के लिए रिजर्व रहेंगी पीएम ने कहा कि मैं पिछली सरकारों के रेल बजट की आलोचना नहीं करना चाहता, लेकिन ये जरूर कहूंगा कि गत सरकार के पांच सालों के बजट की तुलना में सुरेश प्रभु ने ढाई गुना निवेश के साथ जंप लगाई। उन्होंने कहा कि यह बजट विकास की दिशा में उत्तम कदम है। उन्होंने अंत्योदय ट्रेन और दीनदयाल डिब्बों को सराहनीय प्रयास बताया। रेल बजट में लम्बी दूरी की पूर्णतया अनारक्षित सुपरफास्ट रेलगाड़ी ‘अंत्योदय एक्सप्रेस’ चलाने का प्रस्ताव किया है। इसके अलावा दूरी की कुछ अन्य रेलगाड॰ियों में दो से चार ‘दीनदयालु’ सवारी डिब्बे भी लगाने का प्रस्ताव किया है।

रेल बजट से नाखुश दिखे लालू और पवन, कहा- जनता के साथ हुआ धोखा
नई दिल्ली (ईएमएस)। पूर्व रेल मंत्री एवं आरजेडी सुप्रीमो लालू प्रसाद ने रेल बजट को लेकर केंद्र सरकार पर निशाना साधा है। उन्होंने कहा कि यह रेल बजट नहीं, जनता के साथ धोखा है। लालू प्रसाद ने यात्री सुविधाओं का हवाला देते हुए कहा कि सुविधाएं कुछ नहीं दी गईं, सिर्फ हवा-हवाई बातें कही गई हैं। उन्होंने कहा, ‘रेल पटरी से उतर गई है, जो कि एक लाइफ लाइन थी। देश को बुलेट ट्रेन नहीं चाहिए, ये विदेशियों की निगाह है। रेल मंत्री सुरेश प्रभु के बजट पर सवाल उठाते हुए उन्होंने कहा कि मैंने रेलवे को जर्सी गाय बनाया था, मोदी सरकार ने उसे बर्बाद कर दिया। पूर्व रेल मंत्री पवन बंसल ने कहा कि सुरेश प्रभु ने जिन दो इंजन फैक्ट्रियों को चालू करने की बात कही है, वह पुरानी योजना है। इस बजट में बायो टॉयलेट के अलावा कुछ भी नया नहीं है। मौजूदा एनडीए सरकार में रेल मंत्री रह चुके सदानंद गौड़ा ने कहा कि यह बजट बेहतरीन है और भविष्य में इसका बेहतर रिजल्ट देखने को मिलेगा। पूर्व रेल मंत्री दिनेश त्रिवेदी ने कहा कि अगर ऐसा बजट पेश करना है तो सरकार अगली बार से बजट ना लाए। उन्होने कहा कि बजट कहां आया। बजट होता है स्टेट ऑफ विजन, रेल बजट था स्टेट ऑफ इल्यूजन।