रेप के आरोपी को सरेआम मारने को शिवसेना ने जायज ठहराया


नई दिल्ली। नागालैंड के दीमापुर में भीड़ द्वारा रेपिस्ट को जेल से निकालकर फांसी पर लटकाने के कृत्य का वेंâद्र में बैठी एनडीए सरकार की सहयोगी पार्टी शिवसेना ने जायज माना है. मुखपत्र सामना में लिखे संपादकीय में शिवसेना ने नागालैंड की घटना को जनता का रोष बताया है. संपादकीय में कहा गया है कि जो दिल्ली के निर्भया कांड में होना चाहिए था, वो नागालैंड में हुआ. जन भावना क्या होती है नागालैंड के लोगों ने दिखा करके दिया.
निर्भया कांड के दोषी मुकेश द्वारा बीबीसी को दिए इंटरव्यू देने के प्रकरण की आलोचना करते हुए शिवसेना ने कहा है कि निर्भया रेप मामले का आरोपी तिहाड़ जेल में बैठकर किसी नेता-अभिनेता की तरह साक्षात्कार दे रहा है. जहां पूरी दुनिया में भारत की जगहंसाई हो रही है,
शिवसेना का कहना है कि नागालैंड पहले से ही बांग्लादेशी घुसपैठियों के आक्रमण से परेशान है. लोगों ने कई बार आंदोलन किया, लेकिन कोई परिणाम नहीं निकला, जिसके चलते लोगों में असंतोष है. रेपिस्ट को फांसी पर लटकाना भी इसी असंतोष का परिणाम है.