रिजर्व बैंक ने ब्याज दरों में 0.25 फीसदी की कटौती की


सीआरआर में नहीं किया कोई बदलाव
नई दिल्ली । भारतीय रिजर्व बैंक (आरबीआई) ने मंगलवार को व्रेâडिट पॉलिसी की घोषणा कर दी है। सीआरआर में कोई बदलाव नहीं किया गया। सीआरआर दर ४ फीसदी पर बरकरार है। रेपो रेट में ०.२५ फीसदी की कटौती की गई। रेपो रेट ६.७५ फीसदी से घटकर ६.५० फीसदी हुआ। एमएसएफ में ०.७५ की कटौती की गई। रेपो रेट घटने से ईएमआई कम हो सकती है। बैंक ईएमआई कम करने का पैâसला ले सकते हैं। इससे होम लोन और कार लोन सस्ता हो सकता है। वित्त मंत्री अरुण जेटली ने भी सोमवार को नीतिगत ब्याज दरों के मोर्चे पर नरमी की वकालत करते हुए कहा था कि उंची ब्याज दर से अर्थव्यवस्था सुस्त पड़ सकती है। बैंकर और विशेषज्ञ भी उम्मीद कर रहे थे कि रिजर्व बैंक के गवर्नर रघुराम राजन ऋण की लागत को कम करेंगे। बैंक ऑफ महाराष्ट्र के चेयरमैन एवं प्रबंध निदेशक सुशील मुनहोत ने कहा था कि इस बात की संभावना है कि आरबीआई नीतिगत दर में ०.२५ फीसदी की कटौती करेगा। सार्वजनिक क्षेत्र के बैंक के एक वरिष्ठ बैंक अधिकारी ने कहा था कि बाजार मानकर चल रहा है कि ब्याज दरों में ०.२५ फीसदी की कटौती होगी, लेकिन इस बात की भी काफी संभावना है कि वेंâद्रीय बैंक नीतिगत दर में ०.५०ज्ञ् तक की कटौती करे। उद्योग मंडल भी ब्याज दरों में ०.५० फीसदी की कटौती की मांग कर रहे थे।