राष्ट्रपति की किताब पर कांग्रेस मौन


नई दिल्ली । राष्ट्रपति प्रणब मुखर्जी की गुरूवार को विमोचित पुस्तक में किसी भी तरह की टिप्पणी करने से कांग्रेस ने इंकार कर दिया है। गौर हो कि मुखर्जी ने इस पुस्तक में १९८० से १९९६ के बीच के उतार-चढ़ाव वाले सालों के बारे में लिखा है जिस दौरान राम जन्मभूमि मंदिर का ताला खोले जाने और बाबरी माqस्जद विध्वंस जैसी घटनाएं घटी थीं। इसके अलावा राष्ट्रपति ने राजीव गांधी का जिक्र भी किताब में किया है। मुखर्जी ने कहा कि अयोध्या में राम जन्मभूमि मंदिर का ताला खुलना प्रधानमंत्री राजीव गांधी के `निर्णय में गलती’ थी। इसके बावजूद कांगे्रस ने किताब के बारे में अभी तक कोई टिप्पणी नहीं की है। गौर हो कि मुखर्जी यूपीए सरकार में पूर्व मंत्री रहे हैंै।
कांग्रेस के मुख्य प्रवक्ता रणदीप सुरजेवाला ने कहा कि `राष्ट्रपति प्रथम नागरिक हैं। हम उनका सम्मान करते हैं। हमने पुस्तक नहीं पढ़ी है। हम इसे पढ़ने के बाद ही कुछ कहेंगे।’