राज बब्बर ने गिरिराज को पागल करार देकर कहा इलाज का खर्च भी उठाएंगे हम


कोर्ट ने गिरिराज के बयान पर केस दर्ज करने के दिये आदेश

सोनिया का जवाब, संकीर्ण मानसिकता के गिरिराज

नई दिल्ली। भारतीय जनता पार्टी के नेता और केंद्र में मंत्री गिरिराज सिंह को सोनिया गांधी के खिलाफ बयान देना काफी महंगा पड़ रहा है। बयान के लिए खेद प्रकट करने के बावजूद उन्हें कोई राहत मिलती नहीं दिखाई दे रही है। उनकी इस टिप्पणी पर कांग्रेस के राज्यसभा सांसद राजबब्बर ने गिरिराज सिंह को पागल करार दे दिया है। उन्होंने कहा है कि उनका इलाज करवाया जाना चाहिए और उस पर जो खर्च आएगा हम वहन करने के लिए तैयार हैं। दिल्ली में कांग्रेस कार्यकर्ता वीपी हाउस के बाहर जमकर प्रदर्शन कर रहे हैं। स्थिति को अनियंत्रित होता देख पुलिस ने कांग्रेस कार्यकर्ताओं पर लाठी चार्ज किया, जिसके बाद नाराज कांग्रेसियों ने पुलिस पर अंडे फेंके। उधर, यूथ कांग्रेस के कार्यकर्ताओं का कहना है कि हमने पुलिस पर अंडे नहीं फेके हैं। प्रदर्शन में बहुत बड़ी संख्या में लोग शामिल हुए हैं। पब्लिक में से किसी ने फेंक दिया होगा। इस नस्लभेदी बयान के खिलाफ मुंबई में संजय निरूपम की अगुआई में आज कांग्रेस ने मोर्चा निकाल विरोध प्रदर्शन किया है। इसके साथ बेंगलुरु और दिल्ली में भी कांग्रेस की तरफ से प्रदर्शन किया जा रहा है। वहीं, बयान में नाइजीरिया का हवाला देना गिरिराज के लिए और मुश्किल खड़ा कर रहा है। गिरिराज के बयान को दुर्भाग्यपूर्ण करार देते हुए नाइजीरिया के राजनयिक ओबी। ओकोंगोर ने कहा कि इस बयान को लेकर विदेश मंत्रालय में शिकायत दर्ज कराई जाएगी। उन्होंने कहा कि वह चाहते हैं कि मंत्री अपने बयान को वापस लेंगे और नाइजीरिया के लोगों से माफी मांगेंगे। गौरतलब है कि गिरिराज सिंह का एक वीडियो सामने आया जिसमें उन्हें सोनिया गांधी पर नस्लभेदी टिप्पणी करते सुना जा सकता है। गिरिराज सिंह ने कहा कि अगर राजीव गांधी किसी नाइजीरियाई महिला के साथ शादी की होती और अगर वह गोरी नहीं होती तो क्या कांग्रेस उन्हें अपना नेता चुनती। गिरिराज ने कहा कि सोनिया गांधी गोरी चमड़ी की वजह से कांग्रेस की अध्यक्ष बनी हैं। गिरिराज के बयान की पूरे देश में निंदा हो रही है। भाजपा ने भी गिरिराज के इस बयान से खुद को अलग रखते हुए उनके बयान को अपमानजनक और अनुचित करार दिया है। उधर, मामले के तूल पकड़ने के बाद गिरिराज सिंह ने बयान पर सफाई दी और कहा कि उन्होंने यह बयान आधिकारिक रूप से नहीं दिया। बाद में उन्होंने कहा कि अगर मेरे बयान से राहुल और सोनिया के साथ-साथ किसी की भावनाएं आहत हुई हैं, तो मैं उस पर खेद व्यक्त करता हूं।

 

 

० ओला प्रभावित किसानों के साथ मप्र में भेदभाव
० सोनिया ने ओला प्रभावित फसलों का लिया जायजा
नीचम। कांग्रेस की राष्ट्रीय अध्यक्ष सोनिया गांधी गुरुवार को मध्य प्रदेश में बेमौसम बारिश और ओलावृाqष्ट से फसलों को हुए नुकसान का जायजा लेने और किसानों का दर्द जानने के लिए नीमच पहुंचीं। जहां उन्होंने परेशान किसानों से मुलाकात की। और उनका दर्द बांटा। इसके साथ सोनिया ने खुद पर वेंâद्रीय मंत्री गिरिराज िंसह के विवादित बयान पर कहा कि ये संकीर्ण मानसिकता के लोग हैं, जिनकी बातों पर जवाब देना वे उचित नहीं समझती। मालूम हो कि वेंâद्रीय मंत्री गिरिराज िंसह ने कहा था कि राजीव नाइजीरियन लेडी से ब्याह किए होते, गोरी चमड़ी नहीं होती तो कांग्रेस क्या उसका नेतृत्व स्वीकारती। विवाद बढ़ने के बाद उन्होंने कहा था कि अगर सोनियाजी और राहुलजी को मेरे इस बयान से ठेस पहुंची हो तो मैं उनसे खेद व्यक्त करता हूं। राहुल गांधी को लेकर किए गए सवाल के जवाब में सोनिया गांधी ने कहा कि राहुल गांधी जल्द ही आपके सामने आएंगे।
मोदी हो या शिवराज परेशानी में किसानों दें साथ-
कांग्रेस अध्यक्ष सोनिया गांधी ने आगे कहा कि प्रदेश में ओला प्रभावित फसलों के सर्वेक्षण में किसानों के साथ भेदभाव किया गया है। उन्होंने कहा कि चाहे वो वेंâद्र की मोदी सरकार हो या मध्यप्रदेश की शिवराज सरकार, सभी को किसानों की इस परेशानी के दौरान में उनके साथ खड़े हो चाहिए। उन्होंने भाटखेड़ा, नेबड़, िंहगोरिया और पाखेड़ा सहित कई इलाकों में ओलावृाqष्ट से बरबाद हुई फसलों का जायजा लिया। सोनिया ने नीमच जिले में ओलावृाqष्ट से प्रभावित फसलों का जायजा लेने िंहगोरिया, भालखेड़ा, मालखेड़ा और माड़वदा गर्इं। इस दौरान वे कुछ गांवों में खेत तक गई और वहां किसानों से चर्चा की। इस दौरान उनके साथ कांग्रेस नेता मीनाक्षी नटराजन, सत्यदेव कटारे, अरुण यादव, कृणाल मिश्रा और जीतू पटवारी भी मौजूद रहे।

कोर्ट ने गिरिराज के बयान पर केस दर्ज करने के दिये आदेश
० भाजपा ने बताया अपमानजनक
० टिप्पणी पर सर्वत्र निंदा, नाइजीरिया ने बताया दुर्भाग्यपूर्ण
नईदिल्ली । वेंâद्रीय मंत्री गिरिराज िंसह को सोनिया गांधी के खिलाफ की गई नस्लभेदी टिप्पणी पर संज्ञान लेते हुए मुजफ्फरपुर सीजेएम कोर्ट ने गुरुवार को गिरिराज के खिलाफ मामला दर्ज करने का आदेश दिया है। गिरिराज की टिप्पणी पर कांग्रेस अध्यक्ष सोनिया गांधी ने अपनी चुप्पी तोड़ते कहा हैं कि ऐसे संकीर्ण मानसिकता वाले लोगों की टिप्पणियों का जवाब देना वे उचित नहीं समझती। इससे पहले, कांग्रेस के राज्यसभा सांसद राजबब्बर ने गिरिराज िंसह को पागल करार देते हुए कहा कि उन्हें पागलखाने में इलाज कराना चाहिए जिसका खर्च हम वहन करने के लिए तैयार हैं। ०वैâबिनेट से बाहर करने की मांग
उधर, मुंबई कांग्रेस के अध्यक्ष संजय निरुपम ने कहा है कि मैं गिरिराज िंसह के बयान की िंनदा करता हूं और प्रधानमंत्री से मांग करता हूं कि उन्हें वैâबिनेट से निकाल बाहर करें।
कांग्रेस के वरिष्ठ नेता और पूर्व वेंâद्रीय मंत्री कपिल सिब्बल ने कहा है कि इस देश में या तो रामराज हो सकता है या गिरिराज। लेकिन प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने यह तय कर लिया है कि रामराज नहीं गिरिराज होगा। हरियाणा के पूर्व मुख्यमंत्री भूपेंद्र िंसह हुड्डा ने कहा है कि पीएम को ऐसे मंत्री को वैâबिनेट से बाहर कर देना चाहिए। उधर, दिल्ली महिला आयोग की अध्यक्ष बरखा िंसह ने गिरिराज िंसह को बर्खास्त करने की मांग की है और इस बारे में प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी को पत्र लिखा है।
० कांग्रेस का विरोध प्रदर्शन
दिल्ली में कांग्रेस कार्यकर्ता वीपी हाउस के बाहर जमकर प्रदर्शन कर रहे हैं। ाqस्थति को अनियंत्रित होता देख पुलिस ने कांग्रेस कार्यकर्ताओं पर लाठी चार्ज किया, जिसके बाद नाराज कांग्रेसियों ने पुलिस पर अंडे पेंâके। उधर, यूथ कांग्रेस के कार्यकर्ताओं का कहना है कि हमने पुलिस पर अंडे नहीं पेâके हैं। प्रदर्शन में बहुत बड़ी संख्या में लोग शामिल हुए हैं, पाqब्लक में से किसी ने पेंâक दिया होगा।
इस नस्लभेदी बयान के खिलाफ मुंबई में संजय निरूपम की अगुआई में गुरूवार को कांग्रेस ने मोर्चा निकाल विरोध प्रदर्शन किया है। इसके साथ बेंगलुरु और दिल्ली में भी कांग्रेस की तरफ से प्रदर्शन किया जा रहा है। वहीं, बयान में नाइजीरिया का हवाला देना गिरिराज के लिए और मुाqश्कल खड़ा कर रहा है।
०नाइजीरिया ने बताया दुर्भाग्यपूर्ण, क्षमा का दवाब
गिरिराज के बयान को दुर्भाग्यपूर्ण करार देते हुए नाइजीरिया के राजनयिक ओबी. ओकोंगोर ने कहा कि इस बयान को लेकर विदेश मंत्रालय में शिकायत दर्ज कराई जाएगी। उन्होंने कहा कि वह चाहते हैं कि मंत्री अपने बयान को वापस लेंगे और नाइजीरिया के लोगों से माफी मांगेंगे। गौरतलब है कि गिरिराज िंसह का एक वीडियो सामने आया जिसमें उन्हें सोनिया गांधी पर नस्लभेदी टिप्पणी करते सुना जा सकता है। गिरिराज िंसह ने कहा कि अगर राजीव गांधी किसी नाइजीरियाई महिला के साथ शादी की होती और अगर वह गोरी नहीं होती तो क्या कांग्रेस उन्हें अपना नेता चुनती। गिरिराज ने कहा कि सोनिया गांधी गोरी चमड़ी की वजह से कांग्रेस की अध्यक्ष बनी हैं। गिरिराज के बयान की पूरे देश में िंनदा हो रही है।
०भाजपा ने टिप्पणी को बताया अपमानजनक
भाजपा ने भी गिरिराज के इस बयान से खुद को अलग रखते हुए उनके बयान को अपमानजनक और अनुचित करार दिया है। उधर, मामले के तूल पकड़ने के बाद गिरिराज िंसह ने बयान पर सफाई दी और कहा कि उन्होंने यह बयान आधिकारिक रूप से नहीं दिया। बाद में उन्होंने कहा कि अगर मेरे बयान से राहुल और सोनिया के साथ-साथ किसी की भावनाएं आहत हुई हैं, तो मैं उस पर खेद व्यक्त करता हूं।

कालिख पोती जानी चाहिए गिरिराज के चेहरे पर: लालू

पटना। कांग्रेस अध्यक्ष सोनिया गांधी के बारे में भाजपा के वेंâद्रीय मंत्री गिरिराज िंसह द्वारा विवादित बयान दिए जाने के बाद लालू यादव ने कहा है कि गिरिराज िंसह के चेहरे पर कालिख पोती जानी चाहिए।
राजद प्रमुख लालू प्रसाद ने कहा कि सिंह का कद सोनिया गांधी के `तलवे के बराबर भी नहीं’ है और इसके लिए उनके चेहरे पर कालिख पोती जानी चाहिए। पटना में लालू से पत्रकारों द्वारा गिरिराज की सोनिया और राहुल को लेकर की गई टिप्पणी के बारे में पूछे जाने पर उन्होंने कहा कि गिरिराज को चूड़ी, िंसदूर, िंबदी लगाकर उनके चेहरे पर कालिख पोती जानी चाहिए क्योंकि उन्होंने भद्रता की मर्यादा लांघी है।
उल्लेखनीय है कि गिरिराज िंसह ने कहा था कि ‘गोरा रंग होने के कारण ही सोनिया गांधी कांग्रेस अध्यक्ष बनी हैं। यदि राजीव गांधी ने नाइजीरियन लेडी से शादी की होती, तो क्या कांग्रेसी उसे अध्यक्ष स्वीकार करते?’ हालांकि अपने इस बयान पर उन्होंने बाद में माफी भी मांग ली थी। वहीं उन्होंने बिहार के हाजीपुर में प्रेसवार्ता के बाद अनौपचारिक बातचीत मेें राहुल गांधी पर भी चुटकी ली थी। उन्होंने कहा कि राहुल छुट्टी लेकर सक्रिय राजनीति से गायब हैं। वे लापता हुए मलेशियाई प्लेन की तरह हो गए हैं, जिसे कोई ढूंढ ही नहीं पा रहा।

गिरिराज के खिलाफ कांग्रेस का प्रदर्शन
नई दिल्ली। भाजपा सरकार के मंत्री गिरिराज िंसह द्वारा सोनिया गांधी पर अनुचित टिप्पणी किए जाने के विरोध में गुरूवार को राजधानी में कांग्रेस कार्यकर्ताओं ने वीपी हाउस के बाहर जमकर प्रदर्शन किया। ाqस्थति को अनियंत्रित होता देख पुलिस ने कांग्रेस कार्यकर्ताओं पर लाठी चार्ज किया, जिसके बाद नाराज कांग्रेसियों ने पुलिस पर अंडे पेंâके। उधर, यूथ कांग्रेस के कार्यकर्ताओं का कहना है कि हमने पुलिस पर अंडे नहीं पेâके हैं। प्रदर्शन में बहुत बड़ी संख्या में लोग शामिल हुए हैं। पाqब्लक में से किसी ने पेंâक दिया होगा।
वहीं दूसरी ओर इस नस्लभेदी बयान के खिलाफ मुंबई में संजय निरूपम के नेतृत्व में आज कांग्रेस ने मोर्चा निकालकर विरोध प्रदर्शन किया है। इसके साथ बेंगलुरु और दिल्ली में भी कांग्रेस की तरफ से प्रदर्शन किया जा रहा है। वहीं, बयान में नाइजीरिया का हवाला देना गिरिराज के लिए और मुाqश्कल खड़ा कर रहा है। गिरिराज के बयान को दुर्भाग्यपूर्ण करार देते हुए नाइजीरिया के राजनयिक ओबी. ओकोंगोर ने कहा कि इस बयान को लेकर विदेश मंत्रालय में शिकायत दर्ज कराई जाएगी। उन्होंने कहा कि वह चाहते हैं कि मंत्री अपने बयान को वापस लेंगे और नाइजीरिया के लोगों से माफी मांगेंगे।
उल्लेखनीय है कि गिरिराज सिंह द्वारा अपने बयान के लिए खेद प्रकट करने के बावजूद उन्हें कोई राहत मिलती नहीं दिखाई दे रही है। उनके बयान की पूरे देश में िंनदा हो रही है। कांग्रेस के राज्यसभा सांसद राजबब्बर ने गिरिराज िंसह को पागल करार दे दिया है। उन्होंने कहा है कि उनका इलाज करवाया जाना चाहिए और उस पर जो खर्च आएगा हम वहन करने के लिए तैयार हैं। वहीं भाजपा ने भी गिरिराज के इस बयान से खुद को अलग रखते हुए उनके बयान को अपमानजनक और अनुचित करार दिया है।

गिरिराज की टिप्पणी पर भड़के वाड्रा
नई दिल्ली। कांग्रेस अध्यक्ष सोनिया गांंधी के दामाद राबर्ट वाड्रा ने बुधवार को भाजपा सांसद गिरिराज िंसह द्वारा सोनिया गांधी पर की गई शर्मनाक टिप्पणी पर अपना विरोध जताया है।
वाड्रा ने एक बयान में कहा– ‘मैं वेंâद्रीय मंत्री (गिरिराज िंसह) द्वारा मेरी मदर-इन-लॉ पर की गई टिप्पणी से चकित हूं, क्या इस तरह से उस महिला के बारे में बात करते हैं, जिसने कड़ी कठनाईयों का सामना किया है और देश के लिए अपने प्रियजनों को खोया है। अगर सरकार और उसके मंत्री उनकी इज्जत नहीं कर सकते तो फिर इस देश में रहने वाली अन्य महिलाओं का सम्मान क्या करेंगे।’