राज्यसभा : 53 सांसदों का आज संसद में आखिरी दिन


नई दिल्ली। संसद के बजट सेशन का शुक्रवार आखिरी दिन है और राज्यसभा के 53 सासंदों के लिए भी ये आखिरी दिन होगा। 30 जून को इनका टर्म खत्म हो जाएगा। अगला सेशन जुलाई में शुरू होगा इसलिए इनके लिए शुक्रवार ही आखिरी दिन होगा। बीजेपी और कांग्रेस के 14-14 मेंबर्स रिटायर हो रहे हैं।

क्या है राज्यसभा की स्थिति?
राज्यसभा में कुुल 245 मेंबर्स हैं। इनमें अभी सत्तारूढ एनडीए के पास 62 सांसद हैं। सात नॉमिनेटेड मेंबर्स को शामिल कर दें तो उसके 69 सांसद हो जाते हैं। अकेल बीजेपी के पास 49 सीटें हैं।वहीं कांग्रेस के पास 61 सांसद हैं। उसकी सहयोगी पार्टियों की संख्या मिला दें तो यूपीए के 80 सांसद हो जाते हैं। इसमें भी एडीएआईएमके, बीजेडी, तृणमूल, सपा और बसपा को मिला दें तो गैर-एनडीए सांसदों की संख्या 90 हो जाती है।

30 जून को राज्यसभा के एक तिहाई सदस्य रिटायर होंगे। यहां सांसदों का टर्म 6 साल का होता है। हर दो साल में एक तिहाई मेंबर्स रिटायर होते हैं। नए मेंबर्स का इलेक्शन 11 जून को होगा।

नए चुनाव में किसको-कितनी सीटें मिलेगी?
बीजेपी के 14 मेंबर्स रिटायर हो रहे हैं। नये इलेक्शन के बाद उसे 18 सीटें मिल सकती हैं। यानी वह 4 सीटों के फायदे में रहेगी। यानी 49 सीटों वाली बीजेपी राज्यसभा में 53 सीटों तक पहुंच जाएगी। कांग्रेस के अभी 61 सांसद हैं। उसके भी 14 सांसद रिटायर हो रहे हैं। लेकिन उसे उम्मीद है कि दोबारा इलेक्शन के बाद उसकी संख्या 60 बनी रहेगी।

इन 53 सीटों के अलावा बाकी 4 सीटों पर कुछ सदस्यों के निधन या इस्तीफे के चलते चुनाव होगा।

बीजेपी को क्या फायदा मिलेगा…
बीजेपी को कुछ सीटों का फायदा हो सकता है लेकिन उसकी संख्या इतनी नहीं बढ़ेगी कि वह राज्यसभा में बड़े बिल पास कराने की स्थिति में आ जाए।