योग को जिंदगी का हिस्सा बनाना जरूरी : अंतरराष्ट्रीय योग दिवस पर बोले पीएम नरेंद्र मोदी


चंडीगढ़ । दूसरे अंतरराष्‍ट्रीय योग दिवस के मौके पर पीएम नरेंद्र मोदी आज चंडीगढ़ के कैपिटल कॉम्प्लेक्स में करीब 32 हजार लोगों के साथ मौजूद रहे। पीएम के साथ पंजाब के सीएम प्रकाश सिंह बादल भी मौजूद थे। पीएम मोदी ने कहा कि दुनिया में कहीं पर भी जीरो बजट पर हेल्थ अश्योरेंस नहीं होता। योग जीरो बजट से हेल्थ की गारंटी देने वाला साइंस है।” योग गरीब और अमीर सभी के लिए है। इस समय देश के हर कोने में योग के कार्यक्रम से लोग जुड़े हुए हैं। यही नहीं विश्व के सभी देश अपने-अपने समय की सुविधा के हिसाब से इस कार्यक्रम के साथ जुड़े हुए हैं। उन्होंने यूएन का आभार जताते हुए कहा कि UN द्वारा पूरे विश्व में अंतरराष्ट्रीय योग दिवस मनाया जा रहा है। भारत के अनुरोध पर गत वर्ष इसका प्रारंभ हुआ।
21 जून इस लिए चुनाव गया क्योंकि यह दुनिया के बड़े हिस्से में सबसे लंबा दिवस होता है। पूरे विश्व ने योग दिवस का साथ दिया। विकसित से लेकर विकासशील देश इसके साथ जुड़े। यूएन द्वारा घोषित किए गए इतने दिवस में कोई दिवस जनांदोलन बन गया हो ऐसा योग दिवस के साथ ही हुआ है। अंतरराष्ट्रीय योग दिवस की बराबरी कोई और दिवस नहीं कर पा रहा है।

योग के लिए अवॉर्ड    
प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने इस अवसर पर इस खास दिन पर दिए जाने वाले दो योग पुरस्कारों की घोषणा की। इसमें एक राष्ट्रीय एवं दूसरा अंतरराष्ट्रीय पुरस्कार है। उन्होंने कहा, मैं आज सरकार की ओर से दो पुरस्कारों का ऐलान कर रहा हूं। इसमें से एक अंतरराष्ट्रीय स्तर पर योग के क्षेत्र में अभूतपूर्व योगदान देने के लिए जबकि दूसरा राष्ट्रीय स्तर पर इस क्षेत्र में अभूतपूर्व योगदान देने के लिए दिया जाएगा इन पुरस्कारों को अंतरराष्ट्रीय योग पुरस्कार और राष्ट्रीय योग पुरस्कार के नाम से जाना जाएगा उन्होंने कहा कि इनसे संबंधित नियम-कायदे बनाने एवं ज्यूरी का निर्णय लेने के लिए एक विशेष समिति का गठन किया जाएगा।