युवती से दुष्कर्म और हत्या के मामले में आठ गिरफ्तार


रोहतक। नेपाल निवासी मानसिक रूप से कमजोर एक युवती से दुष्कर्म और उसकी हत्या के मामले का खुलासा हो गया है। पुलिस ने इस मामले में सोमवार को आठ युवकों को गिरफ्तार किया है।
घटनास्थल का दौरा करने वाले डीजीपी यशपाल िंसघल ने बताया कि गिरफ्तार किए गए युवक करीब २०-२२ साल के हैं और अपराधी प्रतीत होते हैं। उन्होंने कहा कि मामले को सुलझा लिया गया है और कुल नौ में से आठ युवकों को रोहतक से नौ किमी दूर गढ़ीखेड़ा गांव से गिरफ्तार कर लिया गया है। एक २८ वर्षीय नेपाली युवती से नृशंस बलात्कार के बाद उसकी हत्या कर शव को रोहतक-हिसार राजमार्ग पर एक गांव के खेतों में पेंâक दिया गया था।
पोस्टमार्टम रिपोर्ट में बताया गया है कि महिला पर नृशंस हमला किया गया और उसके गुप्तांगों पर गंभीर चोटें पाई गयी हैं। उसके पेट में ब्लेड और पत्थर पाए गए हैं। पीड़िता पिछले तीन महीने से अपनी बहन के साथ रह रही थी और यहां पीजीआईएमएस में उसका इलाज चल रहा था।
रोहतक के पुलिस अधीक्षक (एसपी) शशांक आनंद ने बताया कि पीडिता की बहन ने एक फरवरी को पुलिस में शिकायत दर्ज कराई थी और चार फरवरी को अकबरपुर गांव के खेत में महिला का शव बरामद हुआ। महिला के शव पर चोट के कई निशान थे। मामले में पुलिस की कथित निाqष्क्रयता के मुद्दे पर डीजीपी ने कहा कि शिकायत दर्ज कराने के समय से ही पुलिस हरकत में आ गई थी और डीएसपी रैंक का अधिकारी मामले को स्वयं देख रहा था।
उन्होंने बताया कि यदि फिर भी पुलिस अधिकारियों की ओर से किसी भी तरह की लापरवाही दिखती है तो उनके खिलाफ कानून के मुताबिक कार्रवाई की जाएगी। इस अपराध की विस्तृत जानकारी सामने आने के बाद पूर्व मुख्यमंत्री भूपेन्द्र िंसह हुड्डा, कांग्रेस विधायक दल की नेता किरण चौधरी और कांग्रेस प्रवक्ता रणदीप िंसह सुरजेवाला समेत विपक्षी कांग्रेस ने घटना की कड़ी िंनदा की और मुख्यमंत्री मनोहर लाल खट्टर को राज्य में अराजकता की ाqस्थति के लिए जिम्मेदार ठहराया।
कांग्रेस ने मामले की जांच के लिए आईजी स्तर के अधिकारी के तहत एसआईटी गठित किए जाने की भी मांग की।