मोदी, नीतिश के बाद अब अमरिंदर के सारथी बने प्रशांत किशोर


चंडीगढ़ (ईएमएस)। प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी फिर बिहार में मुख्यमंत्री नीतीश कुमार के चुनावी वॉर रूम संभालने वाले प्रशांत किशोर ने पंजाब में कांग्रेस की तरफ से मुख्यमंत्री प्रत्याशी वैâप्टन अमरिंदर के सारथी बने हैं। प्रशांत किशोर को कांग्रेस पार्टी ने प्रचार की कमान सौंपी है।
जानकारी के अनुसार लोकसभा चुनावों में नरेंद्र मोदी के साथ चाय पर चर्चा की कामयाबी के बाद प्रशांत अब ‘कॉफी विद वैâप्टन’ के जरिए पंजाब में कांग्रेस का भविष्य सुधारने में जुट गए हैं। कार्यक्रम का आगाज अमृतसर में पूर्व मुख्यमंत्री वैâप्टन अमिंरदर िंसह के साथ कॉफी पर सियासी सवाल-जवाब के साथ हुआ। इस कार्यक्रम को वैâप्टन अमिंरदर की महाराजा वाली छवि को तोड़ने की कवायद का हिस्सा माना जा रहा है। कांग्रेस को पंजाब में अगले साल होने वाले विधानसभा चुनाव के प्रचार अभियान में सत्ता की नई दावेदार आम आदमी पार्टी से कड़ी टक्कर मिल रही है। काफी विद वैâप्टन ने अपने कार्यक्रम में दिए आम लोगों के सवालों के जवाब में प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी को चाय वाला बताया और खुद को बताया कॉफी वाला। हालांकि इस कार्यक्रम में वैâप्टन अमिंरदर िंसह द्वारा लोगों के सवालों को पहले ही चुना गया था कि कौन से सवाल का जवाब देना है और कौन से नहीं, इसलिए इस कार्यक्रम में कुछ लोग नाराज नजर आये और उन्होंने तो कार्यक्रम में इतना तक कह दिया कि इस कार्यक्रम का मकसद कुछ और है और वो ऐसे कार्यक्रम का बहिष्कार करते हैं।
इस कार्यक्रम में प्रशांत किशोर की सारी टीम मौजूद थी। इस काय्र्रक्रम में आये लोगों से सवालों की लिस्ट टीम द्वारा पहले ही ले ली गई थी और टीम द्वारा कुछ चुंिंनदा सवालों को ही वैâप्टन के सामने पेश किया गया। इस कार्यक्रम में आए एक स्टूडेंट का कहना था कि चाहे ये कार्यक्रम किसी की भी नकल हो लेकिन इससे लोगों का फायदा होगा। इसमें दिक्कत क्या है क्योंकि ऐसे कार्यक्रम से लोगों को वैâप्टन अमिंरदर िंसह के सामने अपनी बात रखने का मौका मिलेगा। जिन लोगों को मुाqश्कलें हैं वे यहां अपनी मुाqश्कलें सब के सामने बता सकते हैं। इसलिए ऐसे कार्यक्रम होते रहना चाहिए। इस कार्यक्रम में अमिंरदर िंसह ने लोगों के सवालों का जवाब देते हुए कहा कि ाqस्वस बैंक के अकाउंट में परनीत कौर और रानिन्दर िंसह का नाम आया था, लेकिन उनके अकाउंट में पैसा नहीं था। साथ ही उन्होंने कहा कि ये राजनीति की बात है।