मोदी की फ्लाइट में शराब की मनाही


नई दिल्ली । प्रधानमंत्री के विदेशी दोरों के समय आमतौर पर एयरइंडिया वन की फ्लाइट्स में शराब परोसा जाता रहा है। विदेशी दौरों के समय अधिकारी शराब का लुत्फ भी उठाते रहे हैं। लेकिन प्रधानमंत्री मोदी के विदेश दौरों के समय अधिकारियों को शराब से मरहूम होना पड़ता है। वजह है कि प्रधानमंत्री की फ्लाइट में शराब नहीं परोसा जाता है। इसके लिए खास निर्देश भी हैं। प्रधानमंत्री और दूसरे खास लोगों के लिए एयर इंडिया के बोइंग ७४७ का इस्तेमाल किया जाता है। जिसकी औसत उम्र २५ साल है। बताया जाता है कि यात्रा के दौरान अधिकारियों के पास केवल एक ही विकल्प होता है या तो वे विमान में सो कर आराम करें या प्रधानमंत्री की मीिंटग के लिए आवश्यक दस्तावेजों पर अपना दिमाग खर्च करें। फ्लाट्स में शराब न परोसे जाने की एक खास वजह भी है। प्रधानमंत्री मोदी पूरी तरह से शाकाहारी हैं और वे खुद शराब का सेवन नहीं करते हैं। खबर के मुताबिक, फ्लाइट्स में खानपान के बारे में विदेश मंत्रालय पैâसला लेता है। प्रधानमंत्री के लिए मेन्यू में शाकाहारी भोजन का प्रबंध किया जाता है। जबकि अधिकारियों के लिए नॉन वेज के इस्तेमाल पर किसी तरह का प्रतिबंध नहीं है। यूं तो प्रधानमंत्री मोदी शुद्ध शाकाहारी है और साधारण खाना ही अपने मेन्यु में चुनते हैं लेकिन अन्य लोगों को मासांहारी खाना खाने पर रोक नहीं होती है। अधिकारियों को काम और सोने के अलावा एक ही अन्य विकल्प होता है वह है अपने मोबाइल फोन का इस्तेमाल। यहां खास बात यह है कि प्रधानमंत्री समय और होटल का पैसा बचाने के लिए अक्सर विदेश यात्राओं के दौरान रात में सफर करते हैं।