मृत दिव्यांश हेतु गंभीर प्रबंधन चूक व कदाचरण जिम्मेदार


०डूब रहे छात्र के बचाव पर कोच का इंकार, तथ्यों को छुपाने का आरोप
नईदिल्ली। दक्षिण दिल्ली के वसंत वुंâज क्षेत्र ाqस्थत यार्न इंटरनेशनल स्वूâल में ६ वर्षीय दिव्यांश करोड़ा की मौत के केस में प्राचार्य और चार अन्य कर्मचारियों की गिरफ्तारी के एक दिन बाद एसडीएम सोनल स्वरूप ने अपनी जांच रिपोर्ट में स्वूâल प्रबंधन की गंभीर चूक तथा कदाचरण का खुलासा किया है। रिपोर्ट सरकार को सौंपी गई है। इसमें स्वूâल अधिकारियों की विशेष बच्चा बताकर बच्चे की छवि धूमिल करने के लिए स्वूâल के अधिकारियों द्वारा कथित तौर पर जानबूझकर चलाए गए गलत अभियान की आलोचना की गई है। रिपोर्ट में कहा गया है, कि स्वूâल ने बच्चे के अत्यधिक सक्रिय होने पर जोर दिया। इसके पीछे के असली कारणों को छिपाने के स्वूâल प्रबंधन की छिपी हुई मंशा से इंकार नहीं किया जा सकता। रिपोर्ट में कहा गया है, स्वूâल के अधिकारी अपने कर्तव्य के निर्वहन में तब भी विफल रहे जब बच्चे को देखा गया। ाqस्विंमग कोच ने पानी के टैंक से बच्चे को बचाने से इंकार कर दिया। अन्य सभी कर्मचारी भी मूकदर्शक बने रहे। ११ वीं कक्षा के छात्रा प्रज्वल सहरावत अपनी जान को जोखिम में डालकर पानी के टैंक में घुसा।