मुलायम की नरमी का असर, पिता से मिलने पहुंचे अखिलेश


लखनऊ। समाजवादी पार्टी में मचे घमासान के बीच अब भी पिता-पुत्र यानि मुलायम सिंह और अखिलेश यादव के बीच सुलह की उम्मीदें कम नहीं हुई हैं। कल चुनाव आयोग में दोनों पक्षों की ओर से चुनाव चिह्न साइकिल पर दावा ठोके जाने के बाद आज भी पिता-पुत्र के बीच मेल मुलाकातों का दौर जारी है। आज सीएम अखिलेश यादव मुलायम सिंह से मिलने उनके आवास पर पहुंचे और यहां दोनों के बीच मुलाकात हुई।  दोनों के बीच लगभग डेढ़ घंटे तक मुलाकात चली। उम्मीद लगाई जा रही है कि दोनों में सुलह हो सकती है क्योंकि कल अखिलेश को लेकर मुलायम सिंह नरम पड़ते नजर आए। सोमवार को मुलायम सिंह ने साफ कर दिया कि अगले मुख्यमंत्री अखिलेश यादव ही होंगे। साथ ही मुलायम ने कहा कि मैं हर मंडल में जाकर पार्टी के लिए प्रचार करुंगा। पार्टी में एकता है और उसके टूटने का कोई सवाल नहीं है। ना पार्टी टूटी है और ना ही टूटेगी। हालांकि चुनाव आयोग से मुलाकात के बाद मुलायम के तेवर बेहद गरम थे। मुलायम ने बेटे के प्रति तो नरमी बरती थी, लेकिन रामगोपाल की ओर इशारा कर कहा था कि एक आदमी साजिश कर रहा है। शाम आते-आते मुलायम ने कहा कि अखिलेश ही यूपी के अगले सीएम होंगे। कल साइकिल पर दावा ठोकने का आखिरी दिन था। दोनों पक्षों ने चुनाव आयोग के सामने अपने तर्क रखे। फैसला अब चुनाव आयोग को करना है। 17 जनवरी को यूपी चुनाव के नोटिफिकेशन से पहले ही आयोग को इस पर फैसला करना होगा। किसी भी गुट को साइकिल नहीं मिलने पर दोनों गुट अलग-अलग चुनाव चिह्न पर चुनाव में उतरेंगे।