मुख्यमंत्री आनंदीबेन उना पहुंची, अहमदाबाद सहित कई शहरों में बंद का ऐलान, बसों में तोडफ़ोड़


अहमदाबाद। दलितों पर अत्याचार मामले में मुख्यमंत्री आनंदीबेन आज बुधवार को उना के समढीयाणा पीडि़तों से मुलाकात करने पहुंची। दीव एयरपोर्ट पर उतरने के बाद आनंदीबेन सीधे पीडि़त परिवारों के घर गयी। दलितों ने मुख्यमंत्री से साफ शब्दों में कहा कि हमें सहयता नहीं चाहिए। अत्याचार करने वालों को सजा दीजिए। कहा जा रहा है कि दलितों पर अत्याचार मामले में राहुल गांधी और केजरीवाल के उना आने की घोषणा के बाद मुख्यमंत्री पहले ही उना पहुंच गयी।
उना समढीयाण पुलिस छावनी में तब्दील
उना की घटना के बाद 40-50 दलित उपवास पर उतरे हुए हैं। दलितों की मांग है कि मुख्यमंत्री उपवास स्थल पर जाकर दलितों की बात सुनें। समग्र उना में कड़ी सुरक्षा व्यवस्था की गयी है।
गुजरात बंद का ऐलान
बुधवार को अहमदाबाद, जूनागढ़, अमरेली सहित शहरों में बंद का ऐलान किया गया है। अहमदाबाद, जूनागढ, अमरेली, गीर सोमनाथ, भावनगर में बंद का असर दिखाई दे रहा है। जूनागढ़ सहित कई जिलों में स्कूलों-कालेजों को बंद रखा गया है। अहमदाबाद पालिका के सफाई कर्मचारी भी दलित अत्याचार के विरोध में बंद में शामिल हुए। वहीं अहमदाबाद के सैजपुर में चक्काजाम किया गया। भीड़ ने बीआरटीएस बसों और वाहनों को जगह-जगह रोक दिया। पथराव के कारण डेढ से अधिक बसों को डायवर्ट किया गया है। बापूनगर, जूनावाडज सहित अधिकांश क्षेत्रों में दुकानों, बसों को बंद कराया गया। चांदखेडा में रैली के बाद लोग सड़कों के बीच में बैठ गए।